"मनु" के अवतरणों में अंतर

193 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
2401:4900:51CC:2C28:15C5:B997:9330:ADD6 (Talk) के संपादनों को हटाकर Mihirmishra015 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(→‎कन्याएं: ।ये पजापति किसके पत्र थे कयुकी मनु का परिवाद पहले आये तो परजापति काहासेआये)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2401:4900:51CC:2C28:15C5:B997:9330:ADD6 (Talk) के संपादनों को हटाकर Mihirmishra015 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
स्वायंभुव मनु एवं शतरूपा के कुल पाँच सन्तानें हुईं थीं जिनमें से दो पुत्र प्रियव्रत एवं उत्तानपाद तथा तीन कन्याएँ आकूति, देवहूति और प्रसूति थे।
=== कन्याएं ===
आकूति का विवाह रुचि प्रजापति के साथ और प्रसूति का विवाह दक्ष प्रजापति के साथ हुआ। देवहूति का विवाह प्रजापति कर्दम के साथ हुआ। कपिल ऋषि देवहूति की संतान थे। हिंदू पुराणों अनुसार इन्हीं तीन कन्याओं से संसार के मानवों में वृद्धि हुई।ये पजापति किसके पत्र थे कयुकी मनु का परिवाद पहले आये तो परजापति काहासेआयेहुई।
 
=== पुत्र ===