"भक्ति": अवतरणों में अंतर

20 बाइट्स हटाए गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
 
{{वैश्वीकरण/भारत|date=अगस्त 20192017/19}}
{{हिन्दू धर्म सूचना मंजूषा}}
{{मूल शोध|date=मई 20192017}}
{{स्रोतहीन|date=मई 2019}}
{{लहजा|date=फ़रवरी 2015}}
'''भक्ति''' आस्था है। भक्ति किसका ? ईश्वर का, महान का, अपनेपन का ।
'''भक्ति''' आस्था है। भजन किसका ? ईश्वर का, महान का, अपनेपन का । महान वह है जो चेतना के स्तरों में मूर्धन्य है, यज्ञियों में यज्ञिय है, पूजनीयों में पूजनीय है, सात्वतों, सत्वसंपन्नों में शिरोमणि है और एक होता हुआ भी अनेक का शासक, कर्मफलप्रदाता तथा भक्तों की आवश्यकताओं को पूर्ण करनेवाला है।
 
'''भक्ति''' आस्था है। भजन किसका ? ईश्वर का, महान का, अपनेपन का । महान वह है जो चेतना के स्तरों में मूर्धन्य है, यज्ञियों में यज्ञिय है, पूजनीयों में पूजनीय है, सात्वतों, सत्वसंपन्नों में शिरोमणि है और एक होता हुआ भी अनेक का शासक, कर्मफलप्रदाता तथा भक्तों की आवश्यकताओं को पूर्ण करनेवाला है।
 
== परिचय ==
गुमनाम सदस्य