"तारनेह जावनबख्त" के अवतरणों में अंतर

add references. misc cosmetic changes.
(→‎top: {{अनेक समस्याएँ}} → {{Multiple issues}} एवं सामान्य सफाई)
(add references. misc cosmetic changes.)
| name = Taraneh Javanbakht
| image = TaranehJavanbakht.jpg
| caption =
| birth_name = Taraneh Djavanbakht-Samani
| birth_date = {{birth date and age|1974|5|12|df=yes}}
| birth_place = [[Tehran]], Iran
| death_date =
| death_place =
| nationality = Iranian
| education = University of Paris VI: Pierre-and-Marie-Curie University
}}
 
''' तारनेह जावनबखत ''' (फारसी: ترانه جوانبخت) (ईरान के तेहरान में 12 मई, 1 9 741974 में पैदा हुए) एक ईरानी-कनाडाई वैज्ञानिक, दार्शनिक, कलाकार, लेखक, कवि, अनुवादक, साहित्यिक आलोचक, सहकर्मी-समीक्षक, संपादक और मानवाधिकार कार्यकर्ता.<ref>{{Cite web|url=https://philpeople.org/profiles/taraneh-javanbakht|title=Taraneh Javanbakht|website=philpeople.org|language=en|access-date=2020-01-24}}</ref>
 
== प्रारंभिक जीवन और शिक्षा ==
तारनहे जावानबखत का जन्म ईरान में हुआ था। उसने तेहरान में प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई की। उन्होंने शाहिद बेहेशी विश्वविद्यालय से रसायन विज्ञान में अपनी स्नातक की डिग्री प्राप्त की और अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए पेरिस गए। उन्होंने पियरे और मैरी क्यूरी विश्वविद्यालय से भौतिक रसायन विज्ञान में अपनी पहली मास्टर की डिग्री (उन्नत अध्ययन के मास्टर) अर्जित की। <ref name=":0">{{Cite web|url=https://www.webdepot.umontreal.ca/Usagers/wilkinsk/MonDepotPublic/eng-javanbakht.html|title=Javanbakht, Taraneh|website=webdepot.umontreal.ca|language=en-CA|access-date=2020-01-25}}</ref> उनकी पहली मास्टर की थीसिस भौतिकी (ऑप्टिक्स) में थी फिर, उसने उसी विश्वविद्यालय से भौतिक रसायन विज्ञान में अपनी पीएचडी की पहली डिग्री अर्जित की उन्होंने इकोले पॉलीटेक्निक डी मॉन्ट्रियल में नैनोटेक्नोलॉजी और इंजीनियरिंग में अपनी पोस्टडॉक्टरल अध्ययन किया। <ref>{{Cite web|url=https://archipel.uqam.ca/3948/|title=Régulation de l'expression du gène Pax-3 par les facteurs de transcription Cdx|last=Djavanbakht Samani|first=Taraneh|date=2011|website=archipel.uqam.ca|others=Nicolas Pilon|url-status=live|archive-url=|archive-date=|access-date=2020-01-25|language=fr}}</ref> उन्होंने यूनिवर्सिटी डु क्विबेक मॉन्ट्रियल (यूक्यूएएम) से आणविक जीव विज्ञान में अपनी दूसरी मास्टर डिग्री (एमएससी) प्राप्त की। उन्होंने UQAM से दर्शन में अपनी तीसरी मास्टर डिग्री (एमए) प्राप्त की. <ref>{{Cite web|url=https://archipel.uqam.ca/8673/|title=Logique floue et arborescence comme outils de modélisation des catégories en tant que prototypes|last=Javanbakht|first=Taraneh|date=2016|website=archipel.uqam.ca|others=Serge Robert|url-status=live|archive-url=|archive-date=|access-date=2020-01-25|language=fr}}</ref>
 
== वर्क्स ==
== उसके कार्यों पर आलोचकों ==
तारानेह जावनबख्त के काम पर कई आलोचकों को मीडिया में प्रकाशित किया गया। इनमें से कुछ आलोचक इस प्रकार हैं:
* मुसावी, मेहदी, रुज़ान अखबार, 1588, पी। 6, 200 92009
* खेसेरे, सईद्रेज़ा, एटमेड मेली अखबार, 821, पी। 9, 2008
* शरीफनिया, हामिद, रुज़ान अखबार, 1653, पी। 6, 200 92009
* हेयडीरी, वाहिद, मार्डोम सलारी अखबार, 1 9 41, 2008
* अटरण, अलीरेज़ा, एटमेड मेली अखबार, 811, पी। 8, 2008
 
== अन्य पुस्तकों में ==
कुछ शोधकर्ताओं और लेखकों ने अपनी किताबों में जीवनी और तारनेह जावानबखत के कामों को प्रकाशित किया, जो ईरान और संयुक्त राज्य में प्रकाशित हुए थे। ग्रेट इस्लामिक एनसायक्लोपीडिया के केंद्र ने अपने दार्शनिक प्रणाली, जातिवाद को फिर से प्रकाशित किया, जिसमें 2016 में ज्ञान और सौंदर्यशास्त्र के उनके दर्शन शामिल हैं। <ref>{{Cite web|url=https://cgie.org.ir/fa/news/154958|title=فلسفه زیبایی‌شناسی نتیسم و پیامدهای آن / ترانه جوانبخت|website=cgie.org.ir|access-date=2020-04-21}}</ref> पुरण फारोख़ाजद ने अपनी किताब में तारानेह जावानबखत की किताबों के बारे में लिखा, जिसमें उनकी किताब 'कर्णमये ज़ानेन करय ईरान' है, जिसे 2002 में प्रकाशित हुई थी। <ref>{{Cite book|title=Kārnamā-yi zanān-i kārā-yi Īrān : az dīrūz tā imrūz|last=Farrukhzād, Pūrān.|isbn=964-341-116-8}}</ref> रावेना 2004 में वाशिंगटन में एक कथानक में तारायेन जावानबखत की कविता प्रकाशित हुई। <ref>{{Cite web|url=http://www.ravennapress.com/snowmonkey/volume.php?volume=7&issue=1|title=Snow Monkey, An Eclectic Journal (Volume 7, Issue 1)|website=ravennapress.com|access-date=2020-04-21}}</ref> रीरा अब्शीसी ने तारेने जावानबखत की कविता को एक अन्य संकलन में प्रकाशित किया, जिसका नाम शेरे सोल था। यह पुस्तक 2013 में तेहरान में नेगा के प्रकाशन द्वारा प्रकाशित की गई थी। <ref>{{Cite book|title=Shere solh|last=Abbāsī, Rīʹrā|isbn=978-964-351-867-7|pages=124}}</ref> मोना फल्लाही ने 2015 में अरबी अरब में मोहघेग अरदेबिली पब्लिशिंग द्वारा छपी एक कथानक में एक कथानक में कहा गया था, जो कियाबान हाये सरक, कोहेले हये अजीब में एक कथानक में प्रकाशित हुई थी। मोहम्मद वालिजादे ने तारनेह जावानबखत के बारे में लिखा था और उसकी कविता पुस्तकें, छोटी कहानी की किताबें और अनुवाद किताब, अपनी पुस्तक में रौजनामे एडबीएट इम्रोज़ इरान, जो कि घोषणोस द्वारा प्रकाशित की गई थी, जिसमें तेहरान में प्रकाशित किया गया था 2017 में।. <ref>{{Cite web|url=https://www.mehrnews.com/news/4020512/روزنمای-ادبیات-امروز-ایران-منتشر-شد|title=روزنمای ادبیات امروز ایران منتشر شد|date=2017-07-04|website=خبرگزاری مهر {{!}} اخبار ایران و جهان {{!}} Mehr News Agency|language=fa|access-date=2020-04-21}}</ref>
 
== संदर्भ ==
* मुसावी, मेहदी, रुज़ान अखबार, 1588, पी। 6, 200 92009
* खेसेरे, सईद्रेज़ा, एटमेड मेली अखबार, 821, पी। 9, 2008
* शोरै, सम, तारनेह जावानबख्त, रेडियो ज़माने, के साथ साक्षात्कार। 2007
* शरीफनिआ, हामिद, रुज़ान अखबार, 1653, पी। 6, 200 92009
* शाफाई, अरश, तारनेह जावनबख्त के साथ साक्षात्कार, जमेजम अखबार, 14 9 61496, पी। 6, 2005
* हेयडीरी, वाहिद, मार्डोम सलारी अखबार, 1 9 41, 2008
* अटरानन, अलरेज़ा, एटमेड मेली अखबार, 811, पी। 8, 2008
* मानवाधिकार संवाददाताओं की समिति, लोउओमोमी टैगियर घंटों का ईरान, 2011
* फलाही, मोना, ख़िबाबान हैरे सार, कोचेहे हजी अजीब, मोहघेग अर्देबिली प्रकाशन, 2015
* अब्बासी, रीरा, शेरे सॉल, नेगाह प्रकाशन, 2013
* वालिजादेह, मोहम्मद, रौजनामेई एडबेट इम्रोज़ इरान, घोग्नोस प्रकाशन, 2017
 
{{reflist}}
 
{{Authority control}}
[[श्रेणी:जीवित लोग]]
[[श्रेणी:1974 में जन्मे लोग]]
1

सम्पादन