"राजेन्द्रलाल मित्र" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
| caption = राजा राजेन्द्रलाल मित्र
| birth_date = {{Birth date|1824|2|15|df=yes}}
| birth_place = [[कोलकाता|Kolkata]], [[Bengal Presidency|Bengal]], [[British Indiaबंगाल]]
| death_date = {{Death date and age|1891|7|26|1824|2|15|df=yes}}
| death_place = [[कोलकाता|Kolkata]], [[Bengal Presidency|Bengal]], [[British Indiaबंगाल]]
| occupation = Orientalistप्राच्यविद्
| spouse =
| nationality = [[भारत|Indianभारतीय]]
| ethnicity = [[Bengaliबंगाली Hindu]]हिन्दू
| religion = [[Hinduismहिन्दू]]
}}
'''राजा राजेन्द्रलाल मित्र''' (1823 या 1824 – 1891) [[भारत]] में जन्मे प्रथम आधुनिक [[भारतविद्या|भारतविद]] एवं [[बहुज्ञ]] थे। वे [[बंगाल का नवजागरण|बंगाल के पुनर्जागरण]] के भी अग्रदूत थे।<ref>Bhattacharya, Krishna (2015). [http://shodhganga.inflibnet.ac.in/bitstream/10603/156642/6/06_chapter%202.pdf "Early Years of Bengali Historiography"] (PDF). Indology, historiography and the nation : Bengal, 1847-1947. Kolkata, India: Frontpage. ISBN 978-93-81043-18-9. OCLC 953148596.</ref> वे बंगाल के वैज्ञानिक इतिहास के प्रथम रचयिता थे। उन्होने पुरातत्त्वविद के रूप में भी ख्याति अर्जित की थी। इनकी योग्यता के कारण सरकार ने पहले उन्हें 'रायबहादुर' और 1888 में 'राजा' की उपाधि दे कर सम्मानित किया था।