"उत्तरकाण्ड" के अवतरणों में अंतर

24 बैट्स् जोड़े गए ,  6 माह पहले
→‎संबंधित कड़ियाँ: संदर्भ श्रेणी बनाई है
(छोटा-सा सुधार किया है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
(→‎संबंधित कड़ियाँ: संदर्भ श्रेणी बनाई है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
{{स्रोतहीन}}{{आधार}}
[[उत्तरकाण्ड]] [[वाल्मीकि]] कृत [[रामायण]] और गोस्वामी [[तुलसीदास]] कृत [[श्रीरामचरितमानस|श्री राम चरित मानस]] का एक भाग (काण्ड या सोपान) है।
 
 
श्रीरामचन्द्रजीके गुणों का वर्णन करके उमापति महादेवजी हर्षित होकर कैलासको चले गये, तब प्रभुने वानरोंको सब प्रकाश से सुख देनेवाले डेरे दिलवाये।।14(ख)।।
==संदर्भ==
{{आधार}}
[[श्रेणी:रामायण के काण्ड]]
1,654

सम्पादन