"विन्सटन चर्चिल": अवतरणों में अंतर

583 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
छो
इतिहासकार लेखिका मधुश्री मुखर्जी के तथ्य संझे जा सकते हैा
छो (वर्ल्ड वार 2 हीरो ब्रिटेन नही था. रूस की स्टालिन सेना ने जर्मनियो के हौसले नेस्तनाबूत किये थे.)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (इतिहासकार लेखिका मधुश्री मुखर्जी के तथ्य संझे जा सकते हैा)
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
विंस्टन चर्चिल एक निर्लज्ज साम्राज्यवादी था, जो यह मानता था कि भारतीय जानवरो की तरह हैं और इनका धर्म भी जानवरो वाला हैा भारत कभी एक राष्ट्र नहीं बन सकता और भारतीयों को हमेशा अंग्रेजों का गुलाम रहना चाहिए। जहां तक हिटलर और नाजियों की बात है, तो चर्चिल एकदम सही था। लेकिन गांधी और भारत को लेकर वह पूरी तरह से गलत था। घर में तो वह राष्ट्रीय स्वतंत्रता का बचाव करते थे और विदेश में नस्लीय भेदभाव को बढ़ावा देते थे, यही विंस्टन चर्चिल की राजनीति का अंतर्विरोध था।  
 
चर्चिल अंग्रेजो की फूट डालो और राज करो नीति का सबसे बड़ा हिमायती था. उसने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलनों में जानबूझकर हिंदुओं और मुसलमानों के बीच फूट डालने के प्रयास कियें. जिसके बाद पाकिस्तान जैसा विनाशकारी परिणाम बहार आया.
 
 
 
18

सम्पादन