"ब्रजभाषा" के अवतरणों में अंतर

112 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
→‎विकास यात्रा: मुरैना और मैनपुरी को जोड़ा है जो कि दिया हुआ है।
(→‎विकास यात्रा: छोटा सा बदलाव हाथरस को सही किया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(→‎विकास यात्रा: मुरैना और मैनपुरी को जोड़ा है जो कि दिया हुआ है।)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== विकास यात्रा ==
इसका विकास मुख्यत: पश्चिमी [[उत्तर प्रदेश]] और उससे लगते [[राजस्थान]] ,[[मध्य प्रदेश]] व [[हरियाणा]] में हुआ। [[मथुरा]], [[अलीगढ़]], [[हाथरस]],[[आगरा]], [[मैनपुरी]], [[एटा]], [[भरतपुर]],
[[हिण्डौन सिटी]], [[धौलपुर]], [[ग्वालियर]], [[मुरैना]], [[पलवल]] आदि इलाकों में आज भी यह मुख्य संवाद की भाषा है। इस एक पूरे इलाके में बृजभाषा या तो मूल रूप में या हल्के से परिवर्तन के साथ विद्यमान है। इसीलिये इस इलाके के एक बड़े भाग को बृजांचल या बृजभूमि भी कहा जाता है।
 
भारतीय आर्यभाषाओं की परंपरा में विकसित होनेवाली "ब्रजभाषा" [[शौरसेनी]] अपभ्रंश की कोख से जन्मी है।
397

सम्पादन