"प्रबन्ध चिन्तामणि" के अवतरणों में अंतर

747 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सन्दर्भ एवं सुधार
(नया लेख)
 
(सन्दर्भ एवं सुधार)
{{Infobox book|name=प्रबन्ध-चिन्तामणि|title_orig=प्रबन्ध चिन्तामणि|author=[[मेरुतुंग]]|country=[[भारत]]|language=[[संस्कृत]]|subject=जीवनी किंवदंतियों का संग्रह|genre=[[प्रबन्ध]]|pub_date=१३०४ ई॰ (१३६१ [[विक्रम संवत|वि॰सं॰]])}}'''प्रबन्ध चिन्तामणि''' नामक पुस्तक में १४वीं शताब्दी के राजनीतिक व सांस्कृतिक जीवन के बारे में विवरण देती है। इस पुस्तक की रचना १३०५ ई॰ में [[मेरुतुंगाचार्य]] द्वारा की गई थी। यह जैन साहित्य का एक महत्त्वपूर्ण ग्रंथ है।
 
यह ग्रंथ पांच खण्डों में विभाजित है और इन खण्डों से क्रमशः विक्रमांक, सातवाहन मूलराज, मुंज, नृपति भोज, सिद्वराज जयसिंह, कुमार पाल, लक्ष्मण सेन, जयचन्द्र आदि के विषय में जानकारी मिलती है। पुस्तक का इतिहास में बड़ा महत्व है। इसमें कल्पना का भी समावेश है।
 
== सन्दर्भ ==
'''प्रबन्ध चिन्तामणि''' नामक पुस्तक में १४वीं शताब्दी के राजनीतिक व सांस्कृतिक जीवन के बारे में विवरण देती है। इस पुस्तक की रचना १३०५ ई॰ में [[मेरुतुंगाचार्य]] द्वारा की गई थी। यह जैन साहित्य का एक महत्त्वपूर्ण ग्रंथ है।
<references />
 
यह ग्रंथ पांच खण्डों में विभाजित है और इन खण्डों से क्रमशः विक्रमांक, सातवाहन मूलराज, मुंज, नृपति भोज, सिद्वराज जयसिंह, कुमार पाल, लक्ष्मण सेन, जयचन्द्र आदि के विषय में जानकारी मिलती है। पुस्तक का इतिहास में बड़ा महत्व है। इसमें कल्पना का भी समावेश है।
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
<br />
[[श्रेणी:१४वीं सदी का साहित्य]]
[[श्रेणी:मध्यकालीन साहित्य]]
[[श्रेणी:संस्कृत साहित्य]]