"काजू": अवतरणों में अंतर

1,458 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
 
काजू का उपभोग कई तरह से किया जाता है। काजू के छिलके का इस्तेमाल पेंट से लेकर [[स्नेहक]] (लुब्रिकेंट्स) तक में होता है। एशियाई देशों में अधिकांश तटीय इलाके काजू उत्पादन के बड़े क्षेत्र हैं। काजू की व्यावसायिक खेती दिनों-दिन लगातार बढ़ती जा रही है क्योंकि काजू सभी अहम कार्यक्रमों या उत्सवों में अल्पाहार या नाश्ता का जरूरी हिस्सा बन गया है। विदेशी बाजारों में भी काजू की बहुत अच्छी मांग है। काजू बहुत तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है और इसमे पौधारोपण के तीन साल बाद फूल आने लगते हैं और उसके दो महीने के भीतर पककर तैयार हो जाता है। बगीचे का बेहतर प्रबंधन और ज्यादा पैदावार देनेवाले प्रकार (कल्टीवर्स) का चयन व्यावसायिक उत्पादकों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है।
काजू यह एक फल देनेवाला पेडणे है। इस फल को विलायती मॅंगो भी कहते है।
 
 
विकिपीडियाचा दर्जा राखण्यासाठी या लेखास किंवा विभागास विकिकरणाची गरज आहे.
उपयुक्त विकिदुवे देऊन या लेखाचे विकिकरण करण्यास कृपया मदत करा.
संक्षिप्त मार्गदर्शन दाखवा
 
Quick facts: " | काजू, " | वैज्ञानिक वर्गीकरण …
हिज्जली बदाम (हिंदी), गेरू (कन्नड), कचुमाक (मल्यालम), जीडिमा मिडि (तेलुगू) ऐसे विविध नामों से पहाटे जानेवाले काजू के 'बोंड' से कोकण, मलबार, तामिलनाडू जैसे प्रदेशाें में विविध प्रकार की मदिरा तैयार की जाती है। गोवा में भी काजू के बरेच पैमाने पर फसल ली जाती है। गोवा की काजू की फेनी प्रसिध्द है।
 
== सन्दर्भ ==
592

सम्पादन