"लाहौर संकल्पना" के अवतरणों में अंतर

36 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
CommonsDelinker द्वारा Working_Committee.jpg की जगह File:All_India_Muslim_League_Working_Committee_Lahore_1940.jpg लगाया जा रहा है (कारण: File renamed: Criterion 2 (meaningless or ambigu
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(CommonsDelinker द्वारा Working_Committee.jpg की जगह File:All_India_Muslim_League_Working_Committee_Lahore_1940.jpg लगाया जा रहा है (कारण: File renamed: Criterion 2 (meaningless or ambigu)
[[Image:All India Muslim League Working Committee Lahore 1940.jpg|250px|thumb|right|[[अखिल भारतीय मुस्लिम लीग]] की कार्य समिति की [[लाहौर]] बैठक में देश भर से आए महत्वपूर्ण मुसलमान नेतागण]]
'''लाहौर प्रस्तावना''',({{lang-ur|{{Nastaliq|قرارداد لاہور}}}}, ''क़रारदाद-ए-लाहौर''; [[बाङ्ला भाषा|बंगाली]]: লাহোর প্রস্তাব, ''लाहोर प्रोश्ताब''), सन 1940 में [[अखिल भारतीय मुस्लिम लीग]] द्वारा प्रस्तावित एक आधिकारिक राजनैतिक संकल्पना थी जिसे मुस्लिम लीग के 22 से 24 मार्च 1940 में चले तीन दिवसीय [[लाहौर]] सत्र के दौरान पारित किया गया था। इस प्रस्ताव द्वारा [[ब्रिटिश भारत के प्रेसीडेंसी और प्रांत|ब्रिटिश भारत]] के उत्तर पश्चिमी पूर्वी क्षेत्रों में, तथाकथित तौर पर, मुसलमानों के लिए "'''स्वतंत्र रियासतों'''" की मांग की गई थी एवं उक्तकथित इकाइयों में शामिल प्रांतों को [[स्वायत्तता]] एवं [[सम्प्रभुता|संप्रभुता]] युक्त बनाने की भी बात की गई थी। तत्पश्चात, यह संकल्पना "[[मुसलमान|भारत के मुसलमानों]]" के लिए '''[[पाकिस्तान]]''' नामक मैं एक अलग स्वतंत्र स्वायत्त मुल्क बनाने की मांग करने में परिवर्तित हो गया।<ref>"North Western and Eastern Zones of [[British India]] should be grouped to constitute ‘independent states’ in which the constituent units should be autonomous and sovereign"- Lahore Resolution. [http://criticalppp.com/archives/43698]</ref><ref>{{cite web|author=<!--[if IE 6]> <![endif]--> |url=http://www.alarabiya.net/views/2009/03/24/69098.html |title=Do we know anything about Lahore Resolution? |publisher=Alarabiya.net |date=March 24, 2009 |accessdate=June 2, 2013}}</ref><ref>Christoph Jaffrelot (Ed.) (2005), ''A History of Pakistan and Its Origins'', Anthem Press, ISBN 978-1-84331-149-2</ref>