"बेगम हज़रत महल": अवतरणों में अंतर

1,750 बाइट्स जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
Rescuing 13 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(Rescuing 13 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
}}
 
'''बेगम हज़रत महल''' ([[नस्तालीक़]]: {{लिपि/नस्तालीक़|بیگم حضرت محل}}, 1820 - 7 अप्रैल 1879), जो '''अवध (अउध) की बेगम''' के नाम से भी प्रसिद्ध थीं, [[अवध]] के नवाब [[वाजिद अली शाह]] की दूसरी पत्नी थीं। अंग्रेज़ों द्वारा [[कोलकाता|कलकत्ते]] में अपने शौहर के निर्वासन के बाद उन्होंने [[लखनऊ]] पर क़ब्ज़ा कर लिया और अपनी अवध रियासत की हकूमत को बरक़रार रखा। अंग्रेज़ों के क़ब्ज़े से अपनी रियासत बचाने के लिए उन्होंने अपने बेटे नवाबज़ादे [[बिरजिस क़द्र]] को अवध के वली (शासक) नियुक्त करने की कोशिश की थी; मगर उनका शासन जल्द ही ख़त्म होने की वजह से उनकी ये कोशिश असफल रह गई। उन्होंने [[१८५७ का प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम|1857 के भारतीय विद्रोह]] के दौरान [[ईस्ट इण्डिया कम्पनी|ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी]] के ख़िलाफ़ विद्रोह किया। अंततः उन्होंने [[नेपाल]] में शरण मिली जहाँ उनकी मृत्यु 1879 में हुई थी।<ref name=":0">{{cite news |date=8 April 2014 |title=A link to Indian freedom movement in Nepal |url=http://www.thehindu.com/news/international/south-asia/a-link-to-indian-freedom-movement-in-nepal/article5884467.ece |newspaper=The Hindu |access-date=16 मई 2018 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140410063351/http://www.thehindu.com/news/international/south-asia/a-link-to-indian-freedom-movement-in-nepal/article5884467.ece |archive-date=10 अप्रैल 2014 |url-status=live }}</ref>
 
== जीवनी ==
बेगम हज़मती महल का नाम मुहम्मदी ख़ानुम था, और उनका जन्म [[फ़ैज़ाबाद]], [[अवध]] में हुआ था। वह पेशे से एक [[तवायफ़]] थी और अपने माता-पिता द्वारा बेचे जाने के बाद ''ख़्वासीन'' के रूप में शाही [[हरम]] में ले लिया गया था। तब उन्हें शाही आधिकारियों के पास बेचा गया था, और बाद में वे 'परि' के तौर पर पदोन्नत हुईं,<ref name="Michael Edwardes 1975 p. 1042">Michael Edwardes (1975) ''Red Year''. London: Sphere Books; p. 104</ref> और उन्हें 'महक परि' के नाम से जाना जाता था।<ref>{{cite web|url=http://www.royalark.net/India4/oudh15.htm|title=Oudh (Awadh) Genealogy|last=Buyers|first=Christopher|website=The Royal Ark|access-date=16 मई 2018|archive-url=https://web.archive.org/web/20180322171021/http://www.royalark.net/India4/oudh15.htm|archive-date=22 मार्च 2018|url-status=live}}</ref> अवध के नवाब की शाही रखैल के तौर पर स्वीकार की जाने पर उन्हें "बेगम" का ख़िताब हासिल हुआ,<ref>[[Christopher Hibbert]] (1980) ''The Great Mutiny'', Harmondsworth: Penguin; p. 371</ref> और उनके बेटे बिरजिस क़द्र के जन्म के बाद उन्हें 'हज़रत महल' का ख़िताब दिया गया था।
 
वे आख़िरी ताजदर-ए-अवध, वाजिद अली शाह की छोटी<ref>Saul David (2002) ''The Indian Mutiny'', Viking; p. 185</ref> पत्नी थीं। 1856 में अंग्रेज़ों ने अवध पर क़ब्ज़ा कर लिया था और वाजिद अली शाह को कलकत्ते में निर्वासित कर दिया गया था। कलकत्ते में उनके पति निर्वासित होने के बाद, और उनसे तलाक़ होने के बावजूद, बेगम हज़रत महल ने अवध रियासत के राजकीय मामलों को संभाला।<ref>{{cite web |url=http://www.mapsofindia.com/who-is-who/history/begum-hazrat-mahal.html |title=Begum Hazrat Mahal |publisher=Mapsofindia.com |date= |accessdate=18 October 2012 |archive-url=https://web.archive.org/web/20121030143737/http://www.mapsofindia.com/who-is-who/history/begum-hazrat-mahal.html |archive-date=30 अक्तूबर 2012 |url-status=live }}</ref>
===1857 की भारतीय क्रांति===
[[चित्र:1857Swatantrata sangram.jpg|thumb|200px|left|1857 के भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को समर्पित भारत का डाक टिकट जिसमें बेगम हज़रत महल का चित्र एवं उल्लेख है।|पाठ=]]
===बाद की जीवनी ===
 
आख़िरकार, उन्हें नेपाल जाना पड़ा, जहाँ उन्हें पहले राणा के प्रधान मंत्री जंग बहादुर ने शरण से इंकार कर दिया था,<ref>Hibbert (1980); pp. 374–375</ref> लेकिन बाद में उन्हें रहने की इजाज़त दी गयी थी। <ref>Hibbert (1980); pp. 386–387</ref> 1879 में उनकी मृत्यु हो गई और उन्हें [[काठमाण्डु|काठमांडू]] के जामा मस्जिद के मैदानों में एक अज्ञात क़ब्र में दफ़नाया गया। <ref>{{cite news|last=Krishna|first=Sharmila|title=Far from the madding crowd she lies, forlorn & forgotten|url=http://oudh.tripod.com/bhm/bhmfar.htm|accessdate=3 September 2013|newspaper=[[The Indian Express|The Indian Express - LUCKNOW]]|date=11 June 2002|archive-url=https://web.archive.org/web/20131203001546/http://oudh.tripod.com/bhm/bhmfar.htm|archive-date=3 दिसंबर 2013|url-status=live}}</ref> उनकी मृत्यु के बाद, रानी [[विक्टोरिया]] (1887) की जयंती के अवसर पर, ब्रिटिश सरकार ने बिरजिस क़द्र को माफ़ कर दिया और उन्हें घर लौटने की इजाज़त दे दी। <ref>{{cite book|last1=Harcourt|first1=E.S|title=Lucknow the Last Phase of an Oriental Culture|date=2012|publisher=Oxford University Press|location=Delhi|isbn=0-19-563375-X|page=76|edition=seventh}}</ref>
 
==स्मारक==
[[File:Begum Hazrat Mahal Park Lucknow.jpg|thumb|right|बेगम हज़रत महल पार्क, लखनऊ में बेगम हज़रत महल का स्मारक]]
 
15 अगस्त 1962 को महल को महान विद्रोह में उनकी भूमिका के लिए लखनऊ के हज़रतगंज के पुराने विक्टोरिया पार्क में सम्मानित किया गया था।<ref name="milligazette1">{{cite news|title=Little known, little remembered: Begum Hazrat Mahal|url=http://www.milligazette.com/news/14143-little-known-little-remembered-begum-hazrat-mahal|accessdate=14 September 2016|work=www.milligazette.com|archive-url=https://web.archive.org/web/20161012203038/http://www.milligazette.com/news/14143-little-known-little-remembered-begum-hazrat-mahal|archive-date=12 अक्तूबर 2016|url-status=live}}</ref><ref>{{cite book |last=Ruggles |first1=D. Fairchild |authorlink=D. Fairchild Ruggles |title=Woman's Eye, Woman's Hand: Making Art and Architecture in Modern India|publisher=Zubaan|isbn=9789383074785|url=https://books.google.co.in/books?id=kUqoDAAAQBAJ&pg=PT94&dq="Begum+Hazrat+Mahal+Park"&hl=en&sa=X&ved=0ahUKEwjUy762zI7PAhUW5GMKHRXMCOoQ6AEIHTAA#v=onepage&q=%22Begum%20Hazrat%20Mahal%20Park%22&f=false|accessdate=14 September 2016|language=en}}</ref><ref>{{cite book|last1=Yecurī|first1=Sītārāma|title=The great revolt, a left appraisal|publisher=People's Democracy|isbn=9788190621809|url=https://books.google.co.in/books?id=k30MAQAAMAAJ&dq=Begum+Hazrat+Mahal+Park&focus=searchwithinvolume&q=%22Begum+Hazrat+Mahal+Park%22|accessdate=14 September 2016|language=en|archive-url=https://web.archive.org/web/20180924033746/https://books.google.co.in/books?id=k30MAQAAMAAJ|archive-date=24 सितंबर 2018|url-status=live}}</ref> पार्क के नामकरण के साथ, एक संगमरमर स्मारक का निर्माण किया गया था, जिसमें अवध शाही परिवार के शस्त्रों के कोट को लेकर चार गोल पीतल के टुकड़े वाले संगमरमर के टैबलेट शामिल थे। पार्क का उपयोग रामशिला, दसहरा के दौरान, साथ ही लखनऊ महोत्सव (लखनऊ प्रदर्शनी) के दौरान किया जाता है। <ref>{{cite web |url=http://www.mapsofindia.com/my-india/travel/the-famous-memorial-of-begum-hazrat-mahal-in-lucknow |title=Begum Hazrat Mahal in Lucknow &#124; My India |publisher=Mapsofindia.com |date= |accessdate=2016-09-14 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140531045318/http://www.mapsofindia.com/my-india/travel/the-famous-memorial-of-begum-hazrat-mahal-in-lucknow |archive-date=31 मई 2014 |url-status=live }}</ref>
 
10 मई 1984 को, भारत सरकार ने महल के सम्मान में एक स्मारक डाक टिकट जारी किया। पहला दिन कवर सीआर पकराशी द्वारा डिजाइन किया गया था, और रद्दीकरण अल्का शर्मा द्वारा किया गया था। 15,00,000 टिकट जारी किए गए थे। <ref>{{cite web |url=http://www.indianpost.com/viewstamp.php/Currency/Paisa/Alpha/B/BEGUM%20HAZRAT%20MAHAL |title=Begum Hazrat Mahal |publisher=Indianpost.com |date= |accessdate=18 October 2012 |archive-url=https://web.archive.org/web/20120717074225/http://www.indianpost.com/viewstamp.php/Currency/Paisa/Alpha/B/BEGUM%20HAZRAT%20MAHAL |archive-date=17 जुलाई 2012 |url-status=live }}</ref><ref name="milligazette1"/>
 
==यह भी देखें==
 
==बाहरी कड़ियाँ==
* [https://web.archive.org/web/20180516174558/http://www.iloveindia.com/indian-heroes/begum-hazrat-mahal.html बेगम हज़रत महल की जीवनी।]
* [https://web.archive.org/web/20080108094007/http://oudh.tripod.com/1857/begum.htm 1857 – India's Struggle for Freedom – Begum Hazrat Mahal]
* [https://web.archive.org/web/20160304001453/http://www.tribuneindia.com/2007/20070510/1857/main4.htm People took charge in Awadh]
* [https://web.archive.org/web/20120808112814/http://pd.cpim.org/2007/1014/10142007_1857.htm LUCKNOW IN 1857–58: THE EPIC SIEGE]
* [https://web.archive.org/web/20110725025549/http://www.nehru-centre.org/newsletters/2007/newsletternovember2007.pdf The 1857 Uprising in the History of Freedom Struggle]
* [https://web.archive.org/web/20180516174348/http://www.milligazette.com/Archives/15062001/25.htm Miserable condition of the grave of a warrior lady]
* [https://books.google.ae/books?isbn=8182054729 Freedom fighters of India]
 
1,20,170

सम्पादन