"भीतरकनिका राष्ट्रीय उद्यान": अवतरणों में अंतर

Rescuing 3 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(Rescuing 3 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
}}
 
'''भीतरकनिका राष्ट्रीय उद्यान''' भारत में [[ओडिशा|उड़ीसा]] के केंद्रपाड़ा जिले में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। इस उद्यान में भितरकनिका सदाबहार का 672 वर्ग किमी का क्षेत्र शामिल है,<ref>{{Cite web |url=http://bhitarkanika.in/ |title=संग्रहीत प्रति |access-date=25 अप्रैल 2011 |archive-url=https://web.archive.org/web/20110424203203/http://www.bhitarkanika.in/ |archive-date=24 अप्रैल 2011 |url-status=live }}</ref> यह एक [[मैन्ग्रोव|सदाबहार दलदल]] है जो कि ब्राह्मणी, बैतरनी और धामरा [[डेल्टा|नदियों के मुहाने]] पर स्थित है। यह राष्ट्रीय पार्क, भितरकनिका वन्यजीव अभयारण्य से घिरा हुआ है। इसके पूर्व में गाहिरमथा बीच स्थित है और [[बंगाल की खाड़ी]] से वनस्पतियों को अलग करती है।
 
पार्क में खारे पानी के मगरमच्छों (''क्रोकोडिलस पोरोसस),'') सफेद मगरमच्छ, भारतीय अजगर, एक प्रकार के कालेपक्षी और बानकरों की अधिकता है। गाहिरमथा और पास के अन्य समुद्र तटों के घोंसलो पर ओलिव रिडले समुद्री कछुए (''लेपिडोचेलिस ओलिवासिया'') हैं।
'''वनस्पति''' : कच्छ वनस्पति, सुंदरी, थेस्पिया, कासुअरिना जैसे वृक्ष और नील झाड़ी और कई अन्य घास हैं।
 
'''जीव''' : खारे पानी के मगरमच्छ, सफेद मगरमच्छ, भारतीय अजगर, एक प्रकार के काले पक्षी, जंगली सूअर, रीसस बंदरों, चीतल, बानकर, कोबरा, पानी में रहने वाली छिपकली आदि इस उद्यान की शोभा हैं। गाहिरमथा और अन्य पास के समुद्र तटों के घोंसले पर ओलिव रिडले समुद्री-कछुए रहते है। भारत में सबसे बड़े खतरे में रहे समुद्री मगरमच्छ की आबादी भितरकनिका में उपलब्ध है और 10 प्रतिशत वयस्क कछुओं की लंबाई 6 मीटर की है जो कि दुनिया भर में अनूठा है। लगभग 700 समुद्री मगरमच्छ नदियों और खाड़ियों में रहते हैं<ref>[{{Cite web |url=http://www.wwfindia.org/about_wwf/what_we_do/freshwater_wetlands/our_work/ramsar_sites/bhitarkanika_mangroves_.cfm |title=भितरकनिका में मगरमच्छ] |access-date=25 अप्रैल 2011 |archive-url=https://web.archive.org/web/20100224092448/http://www.wwfindia.org/about_wwf/what_we_do/freshwater_wetlands/our_work/ramsar_sites/bhitarkanika_mangroves_.cfm |archive-date=24 फ़रवरी 2010 |url-status=dead }}</ref>
 
'''एवियन-पशुवर्ग''' : किंगफिशर की आठ किस्मों सहित पक्षिवृन्द की 215 प्रजातियां यहां पाए जाते हैं। एशियाई ओपन बिल, जलकौवा, बानकर, एक प्रकार के काले पक्षी, एग्रेट्स, जैसे पक्षियों को अक्सर उद्यान में देखा जाता है।
 
==बाहरी कड़ियाँ==
*[https://web.archive.org/web/20150924081040/http://www.prabhasakshi.com/ShowArticle.aspx?ArticleId=150813-163759-100000 भितरकनिका को विश्व धरोहर स्थल की सूची में मिल सकती है जगह] (प्रभासाक्षी)
 
{{coord missing|Orissa}}
1,17,579

सम्पादन