"मैदानी हॉकी" के अवतरणों में अंतर

969 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1
(112.79.66.25 (वार्ता) द्वारा किये गए 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
(Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
| olympic=1908, 1920, 1928–जारी
}}
'''मैदानी हॉकी''' अथवा '''फ़ील्ड हॉकी''' (Field hockey) अथावा सामान्यतः '''हॉकी''', [[हॉकी]] परिवार का टीम का खेल है। खेल का उद्भव मध्यकाल में स्कॉटलैण्ड, नीदरलैण्ड और इंग्लैण्ड में माना जाता है।<ref>{{cite web |url=http://fieldhockey.isport.com/fieldhockey-guides/history-of-field-hockey |title=History of Field Hockey |trans-title=फ़ील्ड हॉकी का इतिहास |publisher=आई-स्पोर्ट: फ़ील्ड हॉकी |accessdate=१९ अक्टूबर २०१४ |language=अंग्रेज़ी |archive-url=https://web.archive.org/web/20170724184514/http://fieldhockey.isport.com/fieldhockey-guides/history-of-field-hockey |archive-date=24 जुलाई 2017 |url-status=live }}</ref> यह खेल घास के मैदान अथवा कृत्रिम घास के मैदान पर खेला जा सकता है। प्रत्येक टीम में गोलकीपर सहित ग्याहरह खिलाड़ी होते हैं। खिलाड़ी गोल और दृढ़ जैसी रबर की गेंद पर प्रहार करने के लिए लकड़ी अथवा फायबर काँच की बनी यष्टिक (स्टिक) का प्रयोग करते हैं। यष्टिक की लम्बाई खिलाड़ी की व्यक्तिगत लम्बाई पर निर्भर करती है।<ref>{{cite web|title=Length of Stick|trans-title=यष्टिक की लम्बाई |url=http://www.longstreth.com/How-to-Choose-a-Stick/products/1951/ |publisher=लोंग्स्टरेथ |accessdate=१९ अक्टूबर २०१४|language=अंग्रेज़ी|archive-url=https://web.archive.org/web/20160714053805/http://www.longstreth.com/How-to-Choose-a-Stick/products/1951/|archive-date=14 जुलाई 2016|url-status=dead}}</ref> मैदानी हॉकी में बायें हाथ की कोई यष्टिक नहीं होती और यष्टिक के एक ओर से ही मारा जा सकता है। इसकी पोशाक में शिन-गार्ड्स (घुटने के नीचे सामने की ओर बाँधी जाने वाली गद्दी), क्लीट, स्कर्ट या नीकर और जर्सी शामिल हैं। २१वीं सदी तक आते-आते यह वैश्विक रूप से खेला जाने लगा। इसका प्रचलन मुख्य रूप से पश्चिमी यूरोप, भारतीय उपमहाद्वीप और ऑस्ट्रेलिया में हुआ। हॉकी [[पाकिस्तान]] का राष्ट्रीय खेल है और सामान्यतः भारत के भी राष्ट्रीय खेल के रूप में गिना जाता है यद्यपि आधिकारिक रूप से भारत का कोई राष्ट्रीय खेल नहीं है।<ref name="Hockey not India's national sport">{{cite web |title=Hockey not India's national sport |trans-title=हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल नहीं |url=http://sports.ndtv.com/othersports/hockey/194578-hockey-is-not-indias-national-game-sports-ministry |publisher=एनडीटीवी |date=२ अगस्त २०१२ |accessdate=१९ अक्टूबर २०१४ |language=अंग्रेज़ी |archive-url=https://web.archive.org/web/20130409050932/http://sports.ndtv.com/othersports/hockey/194578-hockey-is-not-indias-national-game-sports-ministry |archive-date=9 अप्रैल 2013 |url-status=dead }}</ref> शब्द "फील्ड हॉकी" प्राथमिक रूप से [[कनाडा]], [[संयुक्त राज्य अमेरिका]], [[पूर्वी यूरोप]] और विश्व के अन्य हिस्सो में लोकप्रिय हुआ जहाँ [[आइस हॉकी]] खेला जाता है।
 
== इतिहास ==
हॉकी लाठी (स्टिक) व गेंद से खेले जाने वाले प्राचीनतम खेलों में से एक है। ऐतिहासिक तथ्य हमें बताते हैं कि यह काफी प्राचीन सभ्यताओं में भी खेला जाता था। आधुनिक हाकी मध्य १८वीं शताब्दी में उभर कर आई पर यह १९वीं शताब्दी में ही ढंग से स्थापित हो पाई जब ब्लैक हीथ नाम का क्लब दक्षिण-पूर्व लंदन में बना। पहले यह घास पर खेला जाता था और फिर १९७० से कृत्रिम घास(प्‍लास्टिक टर्फ) पर खेला जाने लगा<ref>{{cite web | url=http://hindi.webdunia.com/general-knowledge/%E0%A4%B9%E0%A5%89%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%9A%E0%A4%95-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%80-112071300045_1.htm| title=हॉकी के बारे में रोचक जानकारी| publisher=वेबदुनिया| accessdate=17 अक्टूबर 2014| archive-url=https://web.archive.org/web/20141023001958/http://hindi.webdunia.com/general-knowledge/%E0%A4%B9%E0%A5%89%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%B0%E0%A5%8B%E0%A4%9A%E0%A4%95-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%80-112071300045_1.htm| archive-date=23 अक्तूबर 2014| url-status=live}}</ref> जिसने खेल के काफी पहलुओं में बदलाव ला दिया। अब एशियाई देशों का बोलबाला कम हो गया। खेल की गति, खेलने के सामान में बदलाव आने से नये नये नियम, योजनायें बनने लगीं और स्थापित हो गईं।
वेबदुनिया | accessdate= 17 अक्टूबर 2014}}</ref> जिसने खेल के काफी पहलुओं में बदलाव ला दिया। अब एशियाई देशों का बोलबाला कम हो गया। खेल की गति, खेलने के सामान में बदलाव आने से नये नये नियम, योजनायें बनने लगीं और स्थापित हो गईं।
 
== खेल का मैदान ==
1,08,538

सम्पादन