"हैदराबाद के निज़ाम" के अवतरणों में अंतर

Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
इस राजवंश की स्थापना [[निज़ाम-उल-मुल्क आसफजाह|मीर क़मर-उद-दीन सिद्दीकी]], ने की थी जो 1713 से 1721 के बीच [[मुग़ल साम्राज्य]] के [[दक्कन का पठार|दक्कन]] क्षेत्र का सूबेदार था। क़मर-उद-दीन सिद्दीकी ने असंतत रूप से 1724 में आसफ जाह के खिताब के तहत हैदराबाद पर शासन किया और 1707 में [[औरंगज़ेब|औरंगजेब]] की मृत्यु के बाद जब मुगल साम्राज्य कमज़ोर हो गया तो युवा आसफ जाह ने खुद को स्वतंत्र घोषित कर दिया। 1798 से हैदराबाद, ब्रिटिश भारत की रियासतों में से एक था, लेकिन उसने अपने आंतरिक मामलों पर अपना नियंत्रण बनाए रखा था।
 
सात निजामों ने लगभग दो शताब्दियों यानि 1947 में भारत की स्वतंत्रता तक हैदराबाद पर शासन किया। ज्यूंकि सातवे निज़ाम [[मीर उस्मान अली ख़ान]] थे। आसफ जाही शासक [[साहित्य]], [[कला]], [[वास्तुकला]], [[संस्कृति]], जवाहरात संग्रह और उत्तम भोजन के बड़े संरक्षक थे। निजाम ने हैदराबाद पर 17 सितम्बर 1948 तक शासन किया,<ref>{{cite web|url=https://www.thenewsminute.com/article/day-year-how-hyderabad-became-part-union-india-88407|title=This day, that year: How Hyderabad became a part of the union of India|access-date=16 सितंबर 2018|archive-url=https://web.archive.org/web/20181230191656/https://www.thenewsminute.com/article/day-year-how-hyderabad-became-part-union-india-88407|archive-date=30 दिसंबर 2018|url-status=live}}</ref> जब इन्होने भारतीय बलों के समक्ष आत्मसमर्पण किया और इनके द्वारा शासित क्षेत्र को भारतीय संघ में एकीकृत किया गया।<ref>{{cite web|url=http://www.bbc.com/hindi/india/2013/07/130731_hydrabad_liberation_rf|title=कैसे बना हैदराबाद भारत का हिस्सा!|access-date=2 दिसंबर 2017|archive-url=https://web.archive.org/web/20171217051011/http://www.bbc.com/hindi/india/2013/07/130731_hydrabad_liberation_rf|archive-date=17 दिसंबर 2017|url-status=live}}</ref>
 
== हैदराबाद ==
भारत द्वारा अपने कब्जे के समय तक, हैदराबाद सभी रियासतों का सबसे बड़ा और सबसे समृद्ध राज्य था। इसमें काफी सजातीय क्षेत्र का शामिल था और इसकी आबादी लगभग 16.34 मिलियन थी (1941 की जनगणना के अनुसार)। इस साम्राज्य में 86,000 वर्ग मील (223,000 वर्ग किमी) का क्षेत्र शामिल था। यह लगभग वर्तमान यूनाइटेड किंगडम के अकार का था। निज़ाम का हैदराबाद साम्राज्य धार्मिक सद्भावना के लिए भी प्रसिद्द था।<ref>{{Cite web|url=http://www.ummid.com/news/2014/February/04.02.2014/seminar-on-nizam.html|title='Nizam of Hyderabad led life simpler than Mahatma Gandhi'|last=|first=|date=|website=|language=|archive-url=https://web.archive.org/web/20180911040713/http://www.ummid.com/news/2014/February/04.02.2014/seminar-on-nizam.html|archive-date=11 सितंबर 2018|dead-url=|access-date=|url-status=live}}</ref>
 
हैदराबाद राज्य की अपनी सेना, एयरलाइन, दूरसंचार प्रणाली, रेलवे नेटवर्क, डाक प्रणाली, मुद्रा और रेडियो प्रसारण सेवा थी।<ref>{{Cite web|url=https://www.deccanchronicle.com/nation/current-affairs/270518/nizam-vii-cared-more-for-people-than-himself.html|title=Nizam VII cared more for people than himself|last=|first=|date=|website=|language=|archive-url=https://web.archive.org/web/20180930120132/https://www.deccanchronicle.com/nation/current-affairs/270518/nizam-vii-cared-more-for-people-than-himself.html|archive-date=30 सितंबर 2018|dead-url=|access-date=|url-status=live}}</ref>
 
== निजाम के नाम से स्थान और चीजें ==
97,015

सम्पादन