"एम बी एम अभियान्त्रिकी महाविद्यालय" के अवतरणों में अंतर

छो
आवश्यक सुधार के बाद टैग हटाया जा रहा है
छो (Small readjustments)
छो (आवश्यक सुधार के बाद टैग हटाया जा रहा है)
{{विकिफ़ाइ|date=मई 2018}}
'''एम॰बी॰एम॰ अभियांत्रिकी महाविद्यालय''' ('''MBM Engineering College'''; मगनीराम बांगड़ मैमोरियल इंजीनियरिंग कॉलेज; '''एमबीएम'''), [[जोधपुर]] भारत के सबसे पुराने और प्रतिष्ठित [[अभियान्त्रिकी]] महाविद्यालयों में से एक है। इस कॉलेज की स्थापना [[राजस्थान सरकार]] द्वारा 15 अगस्त 1951 को की गई थी।<ref> <https://web.archive.org/web/20180411203538/http://www.mbmalumni.org/brief_history.php></ref><ref>एम.बी.एम. इंजीनियरिंग कॉलेज की आधिकारिक वेबसाइट <https://web.archive.org/web/20180507221659/http://www.mbm.ac.in/></ref> यह महाविद्यालय अभियांत्रिकी के क्षेत्र में अपने उच्च शैक्षिक स्तर के कारण न केवल [[राजस्थान|राजस्थान राज्य]] में ही, बल्कि पूरे देश में अग्रणी तकनीकी संस्थान के रूप में प्रतिष्ठित है। इस महाविद्यालय में अनेक तकनीकी विषयों में [[स्नातक]] और [[स्नातकोत्तर]] स्तर की शिक्षा प्रदान की जाती है। शोधार्थी यहाँ स्नातकोत्तर शिक्षा के बाद [[पीएचडी|पी.एचडी.]] डिग्री तथा स्नातकोत्तर डिप्लोमा के लिए भी अध्ययन करते हैं। सम्प्रति यह महाविद्यालय जुलाई 1962 से जोधपुर, राजस्थान के [[जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय]] के अंतर्गत अभियांत्रिकी तथा [[वास्तुकला|स्थापत्यकला]] संकाय के रूप में मान्यता प्राप्त है।<ref><https://web.archive.org/web/20180226121920/http://www.emmrcjodhpur.edu.in/node/2></ref><ref><https://web.archive.org/web/20180506101857/http://www.jnvu.edu.in/></ref>
167

सम्पादन