"बारनाऊ": अवतरणों में अंतर

3,964 बाइट्स जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन Emoji
 
'''बारनाऊ''' भारत के [[राजस्थान]] राज्य के [[जोधपुर]] ज़िले में का एक गांव है जो [[बालेसर तहसील]] के अंतर्गत आता है। [[नाथड़ाऊ]] गांव यहां का प्रमुख पड़ोसी गांव है। साथ '''बारनाऊ''' गांव एक ''ग्राम पंचायत'' भी है <ref>{{वेब सन्दर्भ|last1=वन फाइव नाइन|title=Barnau village|url=http://www.onefivenine.com/india/villages/Jodhpur/Balesar/Barnau|website=onefivenine|accessdate=०६ दिसम्बर २०१५|archive-url=https://web.archive.org/web/20150924133126/http://www.onefivenine.com/india/villages/Jodhpur/Balesar/Barnau|archive-date=24 सितंबर 2015|url-status=live}}</ref>
 
बारनाऊ में प्रमुख रूप से पालीवाल (ब्राह्मण) निवास करते है, यह पालीवाल (ब्राह्मणों) का 36 खेड़ों का एक गांव है। यहां के कवि ने बारनाऊ धरती हे धोरा री ,                           चोखी है बोली  पालीवाला री ,                        जबरी भाषा है जाटा री ,                          अभिमान है म्हणे पगड़ी रो ,                     अभिमान है म्हणे धोरो रो ,                      बारनाऊ धरती हे धोरा री ,                              अटे मीठी बोली गोरा री,                                अटे कुशल कारीगरी खाति री,                          अटे भेद-भाव नी हे जाती रो ,                   अभिमान हे म्हणे मेघवालो रो ,                       अटे निराली ढाणी भीलो री ,                    बारनाऊ धरती हे धोरा री,                                             अभिमान हे म्हणे राजपूता माथे ,                अभिमान हे म्हणे राठौडो माथे                     क़स्बा भले ही छोटा हे, शिक्षा में ये भी कोटा हे ।                      बारनाऊ धरती हे धोरा री ,                            अठे माटी री कला कुम्भारो री,                       अठे सोने री कला सुनारों री ।।                       चोखो हिसाब हे बणियो रो,                      पालीवाल हे अठे पाली रा,                              गोरा हे अठै जसनाथी  रा ,                             संतो रा काम हे भक्ति रा ,                               सेवा रा काम हे स्वामी ( बाबो ) रा ,            अभिमान हे म्हणे पालीवालों रो ,               अभिमान हे म्हणे गोरो रो,                        अभिमान हे म्हणे जाटो रो ,                     अभिमान हे सगळी जाती रो ,                       अठे भेद-भाव नी हे जाती रो,                          अठे सगलो में एक दूजे रो सहारों हे,              ओइज तो भाईचारो हे,                           अभिमान हे म्हणे इण धरती रो,               अभिमान हे म्हणे इण कवि रो,                       बारनऊ धरती  हे धोरा री ,                              अठे चोखी कारीगरी दरजी री ,                        अठे भेद-भाव नी हे जाति रो,                             खुली धरती खुला गगन हे ,                              इण गाँव री धरती ने इण कवि रा नमन👏 हें ।                                                 कवि- महेश पालीवाल
 
[[श्रेणी:बालेसर तहसील के गाँव]]
[[श्रेणी:जोधपुर ज़िले के गाँव]]
बारनाऊ में प्रमुख रूप से पालीवाल (ब्राह्मण) निवास करते है, यह पालीवाल (ब्राह्मणों) का 36 खेड़ों का एक गांव है।
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
1

सम्पादन