"वसंत" के अवतरणों में अंतर

7 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
Vasant ragini.jpg
(Rescuing 2 sources and tagging 1 as dead.) #IABot (v2.0.1)
(Vasant ragini.jpg)
'''वसन्त ऋतु''' वर्ष की एक ऋतु है जिसमें वातावरण का तापमान प्रायः सुखद रहता है। [[भारत]] में यह फरवरी से मार्च तक होती है। अन्य देशों में यह अलग समयों पर हो सकती है। इस ऋतु की विशेष्ता है मौसम का गरम होना, फूलो का खिलना, पौधो का हरा भरा होना और बर्फ का पिघलना। भारत का एक मुख्य त्योहार है होली जो वसन्त ऋतु में मनाया जाता है। यह एक [[:en:Temperate|सन्तुलित (Temperate)]] मौसम है। इस मौसम में चारो ओर हरियलि होति है। पेडो पर नये पत्ते उग्ते है। इस रितु मैं कइ लोग उद्यनो तालाबो आदि मैं घुम्ने जाते है।
 
[[चित्र:Vasant ragini.jpg|thumb|left|वसंत के रागरंग]]'पौराणिक कथाओं के अनुसार वसंत को कामदेव का पुत्र कहा गया है। कवि देव ने वसंत ऋतु का वर्णन करते हुए कहा है कि रूप व सौंदर्य के देवता कामदेव के घर पुत्रोत्पत्ति का समाचार पाते ही प्रकृति झूम उठती है, पेड़ उसके लिए नव पल्लव का पालना डालते है, फूल वस्त्र पहनाते हैं पवन झुलाती है और कोयल उसे गीत सुनाकर बहलाती है।{{Ref_label|बिहारी|ख|none}} भगवान कृष्ण ने गीता में कहा है ऋतुओं में मैं वसंत हूँ।{{Ref_label|गीता|ग|none}}
 
वसंत ऋतु में [[वसंत पंचमी]], [[शिवरात्रि]] तथा [[होली]] नामक पर्व मनाए जाते हैं। भारतीय संगीत साहित्य और कला में इसे महत्वपूर्ण स्थान है। संगीत में एक विशेष राग वसंत के नाम पर बनाया गया है जिसे [[राग बसंत]] कहते हैं। वसंत राग पर चित्र भी बनाए गए हैं।