"रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन": अवतरणों में अंतर

this change is necessary for hindi readers. this is created by me and not a copyrighted content.
(ये बदलाव इस पृष्ठ को और उन्नत करेगा ।)
(this change is necessary for hindi readers. this is created by me and not a copyrighted content.)
[https://thesocialindian.net/2020/07/12/drdo-kya-hai-in-hindi/ DRDO की मुख्य संस्थाएं]
 
# एडवांस्ड नूमेरिकल रिसर्च एण्ड एनलिसिस ग्रुप (anurag ) – हैदराबाद
# एडवांस्ड सिस्टम्स लैब्रटोरी – हैदराबाद
# एरियल डेलीवेरी रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – आगरा
# ऐरोनोटिकल डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – बेंगलुरू
# अर्नमेंट्स रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – पुणे
# सेंटर फॉर ऐरबोर्न सिस्टम – बेंगलुरू
# सेंटर फॉर आर्टिफिसियल इन्टेलिजन्स एण्ड रोबाटिक्स – बेंगलुरू
# सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव एण्ड एनवायरनमेंट सैफ्टी – दिल्ली
# कम्बैट वीइकल रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – चेन्नई
# डिफेन्स फूड रिसर्च लैब्रटोरी – मैसूर
# टर्मिनल बलिस्टिक रिसर्च लैब्रटोरी – चंडीगढ़ इन सबके अलावा बहुत से संगठन हैं जो DRDO के अंतर्गत काम करते हैं ।
{{ज्ञानसन्दूक सरकारी संस्था
| agency_name = रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन
|abbreviation = DRDO (डी.आर.डी.ओ.)
|logo = DRDO-logo.png
|logo_width = 180px
| motto = ''बलस्य मूलं विज्ञानम् <br /> बल के मूल में विज्ञान है।
|seal_caption = डी.आर.डी.ओ.
|formed = 1958
|headquarters = डी.आर.डी.ओ. भवन, [[नई दिल्ली]]
|employees = 30,000 (5,000 वैज्ञानिक)
|budget = ₹ 14,818.74 करोड़ (यूएस $ 2.1 बिलियन) (2017-18)<ref name="budget">[http://www.defensenews.com/story.php?F=2054079&C=asiapac DefenseNews.com - DRDO’s Failures Prompt Overhaul - 08/28/06 12:03<!-- Bot generated title -->]</ref>
|minister1_name = [[राजनाथ सिंह|श्री राजनाथ सिंह]]
|minister1_pfo = [[भारत के रक्षा मंत्री|रक्षा मंत्री, भारत सरकार]]
|chief1_name = डाॅ जी सतीश रेड्डी <ref name="et">{{cite web | url=http://economictimes.indiatimes.com/news/defence/s-christopher-is-new-drdo-chief-heres-all-you-want-to-know-about-the-man-behind-indias-aewc/articleshow/47466720.cms?cfmid=11001097 | title=dr.g satheesh reddy is new DRDO chief: | publisher=ndtv https://khabar.ndtv.com/news/india/drdo-says-india-can-test-nuclear-test-any-times-1859043 | date=25अगस्त 2018 | accessdate=प्रेजेंट | archive-url=https://web.archive.org/web/20150530210824/http://economictimes.indiatimes.com/news/defence/s-christopher-is-new-drdo-chief-heres-all-you-want-to-know-about-the-man-behind-indias-aewc/articleshow/47466720.cms?cfmid=11001097 | archive-date=30 मई 2015 | url-status=live }}</ref>
|chief1_position = महा निदेशक,<br />डी.आर.डी.ओ.
|parent_agency = [[रक्षा मंत्रालय (भारत)|रक्षा मंत्रालय]]
|child1_agency =
|child2_agency =
| website = {{URL|https://www.drdo.gov.in/hi|DRDO Hindi}}
}}
[[File:KW3555 AWACS IAF (32685888110).jpg|thumb|डीआरडीओ हवाई प्रारंभिक चेतावनी व नियंत्रण विमान]]
[[Image:DRDO Bhawan2.jpg|thumb|डी.आर.डी.ओ.
भवन, [[नई दिल्ली]],डी.आर.डी.ओ. का मुख्यालय]]
 
'''रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन''' ([[अंग्रेज़ी]]:DRDO, ''डिफेंस रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ऑर्गैनाइज़ेशन'') [[भारत|भारत की]] रक्षा से जुड़े अनुसंधान कार्यों के लिये देश की अग्रणी संस्था है। यह संगठन [[रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार|भारतीय रक्षा मंत्रालय]] की एक आनुषांगिक ईकाई के रूप में काम करता है। इस संस्थान की स्थापना [[१९५८]] में [[भारतीय थल सेना]] एवं रक्षा विज्ञान संस्थान के तकनीकी विभाग के रूप में की गयी थी। वर्तमान में संस्थान की अपनी इक्यावन प्रयोगशालाएँ हैं जो [[इलेक्ट्रॉनिक्स]], रक्षा उपकरण इत्यादि के क्षेत्र में अनुसंधान में कार्यरत हैं। पाँच हजार से अधिक वैज्ञानिक और पच्चीस हजार से भी अधिक तकनीकी कर्मचारी इस संस्था के संसाधन हैं। यहां [[राडार]], [[प्रक्षेपास्त्र]] इत्यादि से संबंधित कई बड़ी परियोजनाएँ चल रही हैं।
<ref>{{Cite web |url=https://timesofindia.indiatimes.com/india/india-to-acquire-us-air-defence-system-for-multi-tier-missile-shield-over-delhi/articleshow/69717946.cms |title=संग्रहीत प्रति |access-date=30 अगस्त 2019 |archive-url=https://web.archive.org/web/20190807225558/https://timesofindia.indiatimes.com/india/india-to-acquire-us-air-defence-system-for-multi-tier-missile-shield-over-delhi/articleshow/69717946.cms |archive-date=7 अगस्त 2019 |url-status=live }}</ref> के सामने डी आर डी ओ भवन में स्थित है। इसकी एक प्रयोगशाला [[रिंग मार्ग, दिल्ली|महात्मा गाँधी मार्ग]] पर उत्तर पश्चिमी दिल्ली में स्थित है। संगठन का नेतृत्व [[रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार|रक्षा मंत्री]], [[भारत सरकार]], जो रक्षा मंत्रालय में सामान्य अनुसंधान और विकास के निदेशक तथा रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग (डीडीआर व डी) के सचिव भी हैं, के वैज्ञानिक सलाहकार<ref>{{Cite web |url=http://www.drdo.gov.in/scientificadvisior.html |title=वैज्ञानिक सलाहकार |access-date=14 मई 2010 |archive-url=https://web.archive.org/web/20100307223347/http://www.drdo.gov.in/scientificadvisior.html |archive-date=7 मार्च 2010 |url-status=dead }}</ref> द्वारा किया जाता है।<ref>[http://www.drdo.gov.in/hindi_new/corporateheadquarter.html निगमित मुख्यालय]{{Dead link|date=जून 2020 |bot=InternetArchiveBot }}</ref> मुख्यालय स्तर पर, उनकी सहायता अनुसंधान एवं विकास (सीसीआर व डी), प्रौद्योगिकी और निगमित निदेशालय के मुख्य नियंत्रक<ref>{{Cite web |url=http://www.drdo.gov.in/chiefcontrollers.html |title=मुख्य नियंत्रकगण |access-date=14 मई 2010 |archive-url=https://web.archive.org/web/20100307223342/http://www.drdo.gov.in/chiefcontrollers.html |archive-date=7 मार्च 2010 |url-status=dead }}</ref> द्वारा की जाती है। निगमित निदेशालय के अधिकारी, वित्तीय और संपदा प्रशिक्षण, नागरिक कार्य और संपदा, राज भाषा, विजिलेंस, इत्यादि के क्षेत्र/कार्य को तय करते हैं तथा प्रौद्योगिकी प्रयोगशाला निदेशालय तथा मुख्य नियंत्रक तथा वैज्ञानिक सलाहकार से आरएम के बीच एक इंटरफेस के रूप में काम करते हैं। अतिरिक्त वित्तीय सलाहकार संगठन के उद्देश्यों के मुताबिक धनराशि की उचित उपयोगिता पर संगठन को परामर्श देता है।
{{-}}
 
== [https://thesocialindian.net/2020/07/12/drdo-kya-hai-in-hindi/ DRDO की मुख्य संस्थाएं] ==
 
# एडवांस्ड नूमेरिकल रिसर्च एण्ड एनलिसिस ग्रुप (anurag ) – हैदराबाद
# एडवांस्ड सिस्टम्स लैब्रटोरी – हैदराबाद
# एरियल डेलीवेरी रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – आगरा
# ऐरोनोटिकल डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – बेंगलुरू
# अर्नमेंट्स रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – पुणे
# सेंटर फॉर ऐरबोर्न सिस्टम – बेंगलुरू
# सेंटर फॉर आर्टिफिसियल इन्टेलिजन्स एण्ड रोबाटिक्स – बेंगलुरू
# सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव एण्ड एनवायरनमेंट सैफ्टी – दिल्ली
# कम्बैट वीइकल रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ईस्टैब्लिश्मन्ट – चेन्नई
# डिफेन्स फूड रिसर्च लैब्रटोरी – मैसूर
# टर्मिनल बलिस्टिक रिसर्च लैब्रटोरी – चंडीगढ़
 
# टर्मिनल बलिस्टिक रिसर्च लैब्रटोरी – चंडीगढ़ इन सबके अलावा बहुत से संगठन हैं जो DRDO के अंतर्गत काम करते हैं
 
 
 
==देखें==
22

सम्पादन