"नालन्दा महाविहार" के अवतरणों में अंतर

(Rescuing 9 sources and tagging 2 as dead.) #IABot (v2.0.1)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== ऐतिहासिक उल्लेख ==
प्रसिद्ध चीनी विद्वान यात्री [[ह्वेन त्सांग]] और [[इत्सिंग]] ने कई वर्षों तक यहाँ सांस्कृतिक व दर्शन की शिक्षा ग्रहण की। इन्होंने अपने यात्रा वृत्तांत व संस्मरणों में नालंदा के विषय में काफी कुछ लिखा है।<ref name="डिवाइन"/>{{Ref_label|ह्वेनत्सांग|क|none}}
ह्वेनत्सांग ने लिखा है कि सहस्रों छात्र नालंदा में अध्ययन करते थे और इसी कारण नालंदा प्रख्यात हो गया था। दिन भर अध्ययन में बीत जाता था। विदेशी छात्र भी अपनी शंकाओं का समाधान करते थे।
इत्सिंग ने लिखा है कि विश्वविद्यालय के विख्यात विद्वानों के नाम विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर श्वेत अक्षरों में लिखे जाते थे।
बेनामी उपयोगकर्ता