"अजमेर" के अवतरणों में अंतर

614 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
संजीव कुमार (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 4886313 को पूर्ववत किया
छो (Mnhrdng (Talk) के संपादनों को हटाकर बागबाँ के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
(संजीव कुमार (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 4886313 को पूर्ववत किया)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
 
==इतिहास==
अजमेर शहर की स्थापना 7 वीं सदी में राजा अजय पाल चौहान काने मजबूतकी पकड़थी। 11चौहान 9वंश 5की  मजबूत पकड़ 1195 में अजमेर में बनाबनी रहारही, जब तक मोहम्मद[[मोहम्मगौरी]] घोरी,नामक एक अफगान शासक ने आखिरी चौहान के सम्राट को हराया। उस समय तक अंतिम चौहान सम्राट [[पृथ्वीराज चौहान]] थे। उसके बाद से तेजी से बदलते सम्राटों के बाद से अजमेर को अराजक काल का सामना करना पड़ा था।<ref>{{Cite web|url=https://www.bhaskar.com/rajasthan/ajmer/news/RAJ-AJM-OMC-MAT-latest-ajmer-news-041503-1344846-NOR.html|title=अजमेर का स्थापना दिवस आज... 1112 में अजय राज चौहान ने रखी थी गढ़ अजयमेरू की नींव / अजमेर का स्थापना दिवस आज... 1112 में अजय राज चौहान ने रखी थी गढ़ अजयमेरू की नींव|last=|first=|date=|website=भास्कर|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=}}</ref>
अजमेर शहर की स्थापना 7 वीं सदी में राजा अजय पाल चौहान ने की है, जिन्होंने मुस्लिमों के हमले तक शासन नहीं किया जाने तक बेहद सम्मानित चौहान वंश को स्थापित किया है जो लगातार भारत का शासन करता है।
 
चौहान का मजबूत पकड़ 11 9 5 में अजमेर में बना रहा, जब तक मोहम्मद घोरी, एक अफगान शासक ने आखिरी चौहान के सम्राट को हराया। उस समय तक अंतिम चौहान सम्राट पृथ्वीराज चौहान थे। उसके बाद से तेजी से बदलते सम्राटों के बाद से अजमेर को अराजक काल का सामना करना पड़ा था।<ref>{{Cite web|url=https://www.bhaskar.com/rajasthan/ajmer/news/RAJ-AJM-OMC-MAT-latest-ajmer-news-041503-1344846-NOR.html|title=अजमेर का स्थापना दिवस आज... 1112 में अजय राज चौहान ने रखी थी गढ़ अजयमेरू की नींव / अजमेर का स्थापना दिवस आज... 1112 में अजय राज चौहान ने रखी थी गढ़ अजयमेरू की नींव|last=|first=|date=|website=भास्कर|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=}}</ref>
 
अंत में, 1556 में, मुगल सम्राट अकबर ने अजमेर जीता और अजमेर को राजस्थान राज्य में अपने सभी अभियानों के मुख्य मुख्यालय के रूप में इस्तेमाल किया। मुगलों की गिरावट के बाद, अजमेर शहर का नियंत्रण मराठों को पारित कर दिया गया है, खासकर ग्वालियर की सिंधियां
 
==भूगोल==
अजमेर, राजस्थान के केंद्र में अजमेर जिले में स्थित एकजिला शहरहै औरजो  अच्छीपूर्वी तरहओर से पूर्वी तट में जयपुर और टोंक के जिलों और पश्चिमी तरफ पाली से घिरा हुआ है, जिसे ग्रीन-कार्पेट पहाड़ियों में पारिवार पवित्र शहर भी कहा जाता है।
 
==दर्शनीय स्थल तथा स्मारक==
यह शहर 7 वीं शताब्दी में राजा अजयपाल चौहान द्वारा खोजा गया। शहर इसके बाद से अपने कई पुराने स्मारकों जैसे कि तेजगढ़ किला, अढ़ाई-दीन का-झोपराझोंपरा, मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह और जैन मंदिर पुष्कर झील, ब्रह्मा मंदिर आदि के लिए प्रसिद्ध है। मुगल भारत के नक्शे में अजमेर की महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐतिहासिक अजमेर भारत और विदेश से तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को आकर्षित करता है। अजमेर धर्म और संस्कृतियों की परंपराओं के साथ रहता है।
अजमेर धर्म और संस्कृतियों की परंपराओं के साथ रहता है।
कुछ प्रसिद्ध स्थान:
*[[पुष्कर]]
1,042

सम्पादन