"जलसेना विद्रोह (मुम्बई)" के अवतरणों में अंतर

छो
सम्पादन सारांश रहित
(Rescuing 12 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
छो
[[चित्र:Naval uprising statue.jpg|right|thumb|300px|विद्रोही नौसैनिक की मूर्ति (कोलाबा, मुम्बई)]]
[[भारत]] की आजादी के ठीक पहले [[मुम्बई]] में रायल इण्डियन नेवी के सैनिकों द्वारा पहले एक पूर्ण [[हड़ताल]] की गयी और उसके बाद खुला विद्रोह भी हुआ। इसे ही '''जलसेना विद्रोह''' या '''मुम्बई विद्रोह''' (बॉम्बे म्युटिनी) के नाम से जाना जाता है। यह विद्रोह [[१८ फ़रवरी]] सन् १९४६ को हुआ जो कि जलयान में और समुद्र से बाहर स्थित जलसेना के ठिकानों पर भी हुआ। यद्यपि यह मुम्बई में आरम्भ हुआ किन्तु [[कराची]] से लेकर [[कोलकाता]] तक इसे पूरे ब्रिटिश भारत में इसे भरपूर समर्थन मिला। कुल मिलाकर ७८ जलयानों, २० स्थलीय ठिकानों एवं २०,००० नाविकों ने इसमें भाग लिया। किन्तु दुर्भाग्य से इस विद्रोह को भारतीय इतिहास मे समुचित महत्व नहीं मिल पाया है।
 
== परिचय ==