"करवा चौथ" के अवतरणों में अंतर

225 बैट्स् जोड़े गए ,  8 माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो
== कथा ==
=== प्रथम कथा ===
बहुत समय पहले की बात है, एक [http://www.astrotez.com/%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%9a%e0%a5%8c%e0%a4%a5-2020-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%9a%e0%a5%8c%e0%a4%a5-%e0%a4%b5%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%a5%e0%a4%be/ साहूकार के सात] बेटे और उनकी एक बहन करवा थी। सभी सातों भाई अपनी बहन से बहुत प्यार करते थे। यहाँ तक कि वे पहले उसे खाना खिलाते और बाद में स्वयं खाते थे। एक बार उनकी बहन ससुराल से मायके आई हुई थी।
 
शाम को भाई जब अपना व्यापार-व्यवसाय बंद कर घर आए तो देखा उनकी बहन बहुत व्याकुल थी। सभी भाई खाना खाने बैठे और अपनी बहन से भी खाने का आग्रह करने लगे, लेकिन बहन ने बताया कि उसका आज करवा चौथ का निर्जल व्रत है और वह खाना सिर्फ चंद्रमा को देखकर उसे अर्घ्‍य देकर ही खा सकती है। चूँकि चंद्रमा अभी तक नहीं निकला है, इसलिए वह भूख-प्यास से व्याकुल हो उठी है।
2

सम्पादन