"अलंकार (साहित्य)" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् नीकाले गए ,  3 माह पहले
छो
2409:4060:300:BC3E:69C0:BCF4:B387:66B1 (Talk) के संपादनों को हटाकर रोहित साव27 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
छो (2409:4060:300:BC3E:69C0:BCF4:B387:66B1 (Talk) के संपादनों को हटाकर रोहित साव27 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
यहाँ पानी का प्रयोग तीन बार किया गया है, किन्तु दूसरी पंक्ति में प्रयुक्त '''पानी''' शब्द के तीन अर्थ हैं - मोती के सन्दर्भ में पानी का अर्थ '''चमक''' या कान्ति मनुष्य के सन्दर्भ में पानी का अर्थ '''इज़्ज़त''' (सम्मान) चूने के सन्दर्भ में पानी का अर्थ '''साधारण पानी'''(जल) है।
 
== ४. [[वक्रोक्ति अलंकार]]==
प्रत्यक्ष अर्थ के अतिरिक्त भिन्न अर्थ समझ लेना वक्रोक्ति अलंकार कहलाता है। या किसी एक बात केे अनेक अर्थ होने केे कारण सुनने वाले द्वारा अलग अर्थ ले लिया जाए वहा वक्‍रोक्‍ति अलन्‍कार होता हैं