"चन्द्रमा" के अवतरणों में अंतर

172 बैट्स् नीकाले गए ,  4 माह पहले
छो
2409:4073:216:BA15:6142:C336:5E3C:356 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को 2402:3A80:1054:BB02:C7B4:3F65:F24C:B09A के बदलाव से पूर्ववत किया: बर्बरता हटाई।
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Emoji
छो (2409:4073:216:BA15:6142:C336:5E3C:356 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को 2402:3A80:1054:BB02:C7B4:3F65:F24C:B09A के बदलाव से पूर्ववत किया: बर्बरता हटाई।)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना SWViewer [1.4]
सन् १९७२ में अपोलो-१७ मिशन के बाद से चंद्रमा का दौरा केवल मानवरहित अंतरिक्ष यान के द्वारा ही किया गया जिसमें से विशेषकर अंतिम सोवियत लुनोखोद रोवर द्वारा किया गया है। सन् २००४ के बाद से [[जापान]], [[चीन]], [[भारत]], [[संयुक्त राज्य|संयुक्त राज्य अमेरिका]] और [[यूरोपीय अंतरिक्ष अभिकरण|यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी]] में से प्रत्येक ने चंद्र परिक्रमा के लिए यान भेजा है। इन अंतरिक्ष अभियानों ने चंद्रमा पर जल-बर्फ की खोज की पुष्टि के लिए विशिष्ठ योगदान दिया है। चंद्रमा के लिए भविष्य की मानवयुक्त मिशन योजना सरकार के साथ साथ निजी वित्त पोषित प्रयासों से बनाई गई है। चंद्रमा ' बाह्य अंतरिक्ष संधि ' के तहत रहता है जिससे यह शांतिपूर्ण उद्देश्यों की खोज के लिए सभी राष्ट्रों के लिए मुक्त है।
:'''[[चन्द्रयान]]''' (अथवा चंद्रयान-१) [[भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन]] के चंद्र अन्वेषण कार्यक्रम के अंतर्गत द्वारा चंद्रमा की तरफ कूच करने वाला [[भारत]] का पहला<ref name="ISRO 2017">{{cite web | title=चंद्रयान-1 | website=ISRO | date=4 October 2017 | url=https://www.isro.gov.in/hi/Spacecraft/%E0%A4%9A%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%A8-1 | language=hi | accessdate=14 December 2017 | archive-url=https://web.archive.org/web/20171214015704/https://www.isro.gov.in/hi/Spacecraft/%E0%A4%9A%E0%A4%82%E0%A4%A6%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%A8-1 | archive-date=14 दिसंबर 2017 | url-status=live }}</ref> अंतरिक्ष यान था।
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Thank you 😊🙂😊🙂😊🙂😊😏😊😊😊🙂😊🙂🤩😄👇😊☺️🤨😊🙂🤩☺️🐱🐶🙈🐨🌔😊🙂
 
== भौतिकीय गुण ==
107

सम्पादन