"कागज निर्माण" के अवतरणों में अंतर

427 बैट्स् जोड़े गए ,  4 माह पहले
छो
2401:4900:463A:B5F8:D2D2:154A:6DDA:2034 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को InternetArchiveBot के बदलाव से पूर्ववत किया: स्पैम लिंक।
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2401:4900:463A:B5F8:D2D2:154A:6DDA:2034 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को InternetArchiveBot के बदलाव से पूर्ववत किया: स्पैम लिंक।)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना SWViewer [1.4]
 
{{आधार}}
सेवा में,
[[चित्र:Jingangjing.png|right|thumb|300px|[[वज्रच्छेदिकाप्रज्ञापारमितासूत्र]] का चीनी अनुवाद (डायमण्ड सूत्र) विश्व की प्राचीनतम (८६८ ई) कागज पर छपी पुस्तक है जो सुरक्षित बची हुई है।]]
श्रीमान शाखा प्रबंधक
[[काग़ज़|कागज]] का उपयोग लिखने एवं पैकेजिंग के लिये होता है।
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
भूणीया बाड़मेर (राजस्थान)
 
कागज-निर्माण की प्रक्रिया इस प्रकार है- जल में [[फाइबर]] के तनु मिश्रण को एक पर्दे से गुजारा जाता है ताकि पानी निकल जाय और पर्दे पर रेशों (फाइबर) की एक चटाई बन जाय। इस 'चटाई' में जो पानी बच जाता है उसे दबाकर और सुखाकर निकाला जाता है। इस प्रकार कागज बन जाता है। १९वीं शताब्दी में जब फोर्ड्रिनियर मशीन (Fourdrinier machine) का आविष्कार हुआ तभी से अधिकांश कागज लकड़ी की लुगदी (पल्प) से बनाया जाता है। किन्तु रेशे के अन्य स्रोतों (जैसे [[कपास|रूई]], वस्त्र आदि) का उपयोग उच्च गुणवत्ता वाले कागज के निर्माण के लिये किया जाता है। पहले कागज चिन्दे (rags) और सन (hemp) से भी बनाया जाता था।आज कल पेड़(tree)फ़्री काग़ज़ भी बनता है।
विषय – बैंक अकाउंट में मोबाइल नंबर रजिस्टर करने हेतू।
 
महोदय,
विनम्र निवेदन हैं कि मेरा नाम गोगाराम है। मैं आपके भारतीय स्टेट बैंक भूणीया शाखा का खाताधारक हूं,जिसमे मेरी खाता संख्या 37187815417 है। महोदय कारण है कि मैं अपने खाते में मोबाईल नंबर
रजिस्टर कराना चाहता हूं। जिसके कारण मैं अपने खाते से संबंधित लेन-देन की जानकारी अपने मोबाइल पर प्राप्त कर सकूं।
अतः महोदय से अनुरोध है कि मेरा खाते में नया मोबाईल नम्बर दर्ज करने की कृपा करें!
 
भवदीय
धन्यवाद खाताधारक का नाम : GOGA RAM
बैंक अकाउंट नंबर : 37187815417
मोबाइल नंबर : +917426985539
 
हस्ताक्षर
 
==बाहरी कड़ियाँ==
107

सम्पादन