Mpgkpdf

Mpgkpdf 9 मार्च 2020 से सदस्य हैं
2,880 बैट्स् नीकाले गए ,  3 माह पहले
खाली किया गया / कृपया सदस्य पृष्ठ नीति देखें
(कटनी की भौगोलिक स्थिति)
 
(खाली किया गया / कृपया सदस्य पृष्ठ नीति देखें)
टैग: रिक्त
 
कटनी की भौगोलिक स्थिति
 
 
कटनी जिले का उत्तर-पूर्वी भू-भाग सतपुड़ा कैमोर पर्वत श्रृंखलाओं से घिरा हुआ है, जिसमें मुख्यतः विजयराघवगढ़, बड़वारा, एवं ढीमरखेड़ा विकासखंड आते हैं। जिले के दक्षिण पश्चिम भू-भाग महानदी-कटनी के ढलाने वाले घाटी क्षेत्र में आता है इसमें कटनी , रीठी, तथा बहोरीबंद विकासखंड आते हैं।
 
कटनी जिले का कुल क्षेत्रफल 454.66 वर्ग किलोमीटर है इसके पूर्व में सतना, जिला, पश्चिम में जबलपुर जिला, उत्तर में पन्ना जिला, दक्षिण में उमरिया जिला स्थित है।
 
भौगोलिक दृष्टि से उत्तरी अक्षांश 23.33 अंश से 24.80 अंश तक तथा पूर्वी देशांश 79.57 अंश से 80.58 अंश के बीच जिला स्थित है।
 
समुद्र तल से 392 मीटर ऊँचाई पर स्थित है।
 
कर्क रेखा कटनी जिले से होकर गुजरती है।
 
[https://www.mpgkpdf.com/2020/07/katni-jile-ke-bare-me-jankari.html कटनी जिले के बारे मे जानकारी के लिए]
 
कटनी जिले के ढीमरखेड़ा विकासखंड का करोंदी ग्राम देश का मध्य केन्द्र बिन्दु है।
 
जिले में भूमि का कुल क्षेत्रफल 4590 वर्ग किलोमीटर है, जिले में कृषि जोत का आकार 1.3 हैक्टेयर है। अनाजों में सर्वाधिक धान का उत्पादन किया जाता है।
 
कटनी जिले का अधिकतम ताप 47 सेंटीग्रेट तथा न्यूनतम तापमान 40 सेंटीग्रेट है।
 
जिले में सामान्य औसत वर्षा 1212 मिलीमीटर होती है।
 
कटनी जिले की प्रमुख नदियां छोटी महानदी, कटनी नदी, उमरेड हैं।