"विदर्भ": अवतरणों में अंतर

742 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
Dhar state गजेटियर
(Increase the page)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(Dhar state गजेटियर)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
नागपुर साल 1853 से 1861 तक 'नागपुर प्रॉविंस' की राजधानी रहा. इसके बाद मध्य प्रांत और बरार का साल 1950 तक. इसके बाद मध्य प्रदेश राज्य का जन्म हुआ और नागपुर एक बार फिर इसकी राजधानी बना. लेकिन 1960 में महाराष्ट्र राज्य के निर्माण के बाद इस शहर ने यह रुतबा खो दिया और तब से इसके रुतबे को वापस लाने के लिए एक आंदोलन जारी है.
वर्मा इसीलिए कहते हैं, "हम एक नए राज्य की मांग नहीं कर रहे हैं बल्कि नागपुर के खोए हुए दर्जे को वापस बहाल करने की मांग कर रहे हैं."
 
==इतिहास==
 
ग्यारहवीं शताब्दी में विदर्भ धार के सम्राट [[भोज परमार]] के अधिन मालवा साम्राज्य का अंग था। इसलिये पँवार नरेश भोज को [[विदर्भराज]] कहाँ जाता था। भोज परमार के बाद भी विदर्भ पर भोज वंशीयो का राज्य रहा। धार से यहां के जिलों में पँवारों का स्थानांतरण हुआ जिन्हें पोवार कहाँ जाता है।
653

सम्पादन