"रवीन्द्र केलकर" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  1 वर्ष पहले
Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.6
(Rescuing 4 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.1)
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.6)
}}
 
''' रवीन्द्र केलकर ''' (7 मार्च 1925 – 27 अगस्त 2010) [[कोंकणी भाषा|कोंकणी साहित्य]] के सबसे मजबूत स्तंभ थे। 85 वर्षीय इस महान हस्ती को वर्ष 2006 का [[ज्ञानपीठ पुरस्कार]] प्रदान किया गया। उनकी प्रमुख रचनाओं में आमची भास कोंकणीच, 'बहुभाषिक भारतान्त भाषान्चे समाजशास्त्र' शामिल हैं।<ref>{{Cite web |url=http://hindi.webdunia.com/news/news/national/0811/22/1081122090_1.htm |title=संग्रहीत प्रति |access-date=4 दिसंबर 2008 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140810150437/http://hindi.webdunia.com/news/news/national/0811/22/1081122090_1.htm |archive-date=10 अगस्त 2014 |url-status=livedead }}</ref>
 
रवीन्द्र केलकर का जन्म ७ मार्च १९२५ में दक्षिण [[गोवा]] के कोकुलिम क्षेत्र में हुआ। कोंकणी, [[हिन्दी]] और [[मराठी भाषा|मराठी]] में उनकी 32 से अधिक मौलिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है। वह स्वतंत्रता संग्राम और [[गोवा मुक्ति संग्राम|गोवा के मुक्ति संग्राम]] से जुड़े रहे। वह आधुनिक कोंकणी आंदोलन के प्रणेता थे और [[कोंकणी भाषा मंडल]] की स्थापना में उनकी अहम भूमिका रही। केलकर को ज्ञानपीठ पुरस्कार के अलावा 1976 में [[साहित्य अकादमी पुरस्कार]], 2008 में [[पद्म भूषण|पद्मभूषण]] प्रदान किया गया था और 2007 में उन्हें [[भारतीय साहित्य अकादमी|साहित्य अकादमी]] का फैलो चुना गया था।
1,11,632

सम्पादन