"पर्यावरण" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  1 माह पहले
Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.6
छो (Ritikpraj (वार्ता) के 1 संपादन वापस करके संजीव कुमारके अंतिम अवतरण को स्थापित किया (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.6)
 
== भारतीय संस्कृति में पर्यावरण चिंतन ==
भारतीय संस्कृति में पर्यावरण को विशेष महत्त्व दिया गया है। प्राचीन काल से ही भारतीय संस्कृति में पर्यावरण के अनेक घटकों जैसे वृक्षों को पूज्य मानकर उन्हें पूजा जाता है। पीपल के वृक्ष को पवित्र माना जाता है। वट के वृक्ष की भी पूजा होती है। जल, वायु, अग्नि को भी देव मानकर उनकी पूजा की जाती है। समुद्र, नदी को भी पूजन करने योग्य माना गया है। गंगा, सिंधु, सरस्वती, यमुना, गोदावरी, नर्मदा जैसी नदीयों को पवित्र मानकर पूजा की जाती है। धरती को भी माता का दर्जा दिया गया है। प्राचीन काल से ही भारत में पर्यावरण के विविध स्वरुपों की पूजा होती है।<ref>{{Cite web |url=http://hindi.speakingtree.in/spiritual-articles/science-of-spirituality/content-246889 |title=संग्रहीत प्रति |access-date=22 अक्तूबर 2015 |archive-url=https://web.archive.org/web/20151229235641/http://hindi.speakingtree.in/spiritual-articles/science-of-spirituality/content-246889 |archive-date=29 दिसंबर 2015 |url-status=livedead }}</ref><ref>{{Cite web |url=http://hi.vikaspedia.in/rural-energy/policy-support/92d93e930924-915940-92a93094d92f93e935930923-92894092493f |title=संग्रहीत प्रति |access-date=22 अक्तूबर 2015 |archive-url=https://web.archive.org/web/20150812053904/http://hi.vikaspedia.in/rural-energy/policy-support/92d93e930924-915940-92a93094d92f93e935930923-92894092493f |archive-date=12 अगस्त 2015 |url-status=live }}</ref><ref>{{Cite web |url=http://m.jagran.com/uttar-pradesh/varanasi-city-11365556.html |title=संग्रहीत प्रति |access-date=22 अक्तूबर 2015 |archive-url=https://web.archive.org/web/20180512043631/https://m.jagran.com/uttar-pradesh/varanasi-city-11365556.html |archive-date=12 मई 2018 |url-status=live }}</ref>
 
== पर्यावरण विज्ञान ==
1,05,299

सम्पादन