"अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस" के अवतरणों में अंतर

छो
Rahulguptakattarhindu (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को Isabelle Belato के बदलाव से पूर्ववत किया: स्पैम लिंक।
छो (Rahulguptakattarhindu (वार्ता) द्वारा किए बदलाव को Isabelle Belato के बदलाव से पूर्ववत किया: स्पैम लिंक।)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना SWViewer [1.4]
१७ नवम्बर १९६५ को [[युनेस्को]] ने ८ सितम्बर को '''अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस''' (International Literacy Day) घोषित किया। इसको पहली बार १९६६ में मनाया गया। इसका उद्देश्य व्यक्तिगत, सामुदायिक और सामाजिक रूप से साक्षरता के महत्व पर प्रकाश डालना है। यह उत्सव दुनियाभर में मनाया जाता है।<ref>{{Cite web |url=http://www.unesco.org/new/en/education/themes/education-building-blocks/literacy/advocacy/international-literacy-day/ |title=संग्रहीत प्रति |access-date=27 सितंबर 2014 |archive-url=https://web.archive.org/web/20120711162234/http://www.unesco.org/new/en/education/themes/education-building-blocks/literacy/advocacy/international-literacy-day/ |archive-date=11 जुलाई 2012 |url-status=live }}</ref>
 
लगभग ७७.५ करोड़ युवा साक्षरता की कमी से प्रभावित हैं; अर्थात पाँच में से एक युवा अभी तक साक्षर नहीं है और इनमें से दो तिहायी महिलायें हैं।<ref>{{Cite web |url=http://www.uis.unesco.org/literacy/Pages/adult-youth-literacy-data-viz.aspx |title=संग्रहीत प्रति |access-date=27 सितंबर 2014 |archive-url=https://web.archive.org/web/20120728142045/http://www.uis.unesco.org/literacy/Pages/adult-youth-literacy-data-viz.aspx |archive-date=28 जुलाई 2012 |url-status=live }}</ref> ६.७ करोड़ बच्चे विद्यालयों तक नहीं पहुँचते और बहुत बच्चों में नियमितता का अभाव है अथवा बीच में छोड़ देते हैं।<ref>{{Cite web |url=http://stats.uis.unesco.org/unesco/TableViewer/chartView.aspx |title=संग्रहीत प्रति |access-date=27 सितंबर 2014 |archive-url=https://web.archive.org/web/20140323123602/http://stats.uis.unesco.org/unesco/TableViewer/chartView.aspx |archive-date=23 मार्च 2014 |url-status=live }}</ref> पुरे विश्व में 8 सितंबर को [https://rahulguptabjp.blogspot.com/2020/09/international-literacy-day.html अंतराष्ट्रीय साक्षरता दिव'''स'''] मनाया जाता है इसका उद्देश्य व्यक्तिगत, सामुदायिक और सामाजिक  रूप से साक्षरता के महत्व पर प्रकाश डालना है। यह उत्सव दुनिया भर में मनाया जाता है पूरी दुनिया साक्षरता बढ़ाने के लिए इसे मनाया जाता है। आज भी विश्व में अनेक लोग निरक्षर है इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य विश्व में सभी लोगो को शिक्षित करना है।
 
==इन्हें भी देखें==
228

सम्पादन