"सुलतानपुर जिला" के अवतरणों में अंतर

106 बैट्स् नीकाले गए ,  1 माह पहले
छो
2409:4063:4D84:F52C:7943:7776:3A30:200E (Talk) के संपादनों को हटाकर Taukeerppw के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका Reverted
छो (2409:4063:4D84:F52C:7943:7776:3A30:200E (Talk) के संपादनों को हटाकर Taukeerppw के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न SWViewer [1.4]
[[उत्तर प्रदेश]] [[भारत]] देश का सर्वाधिक जिलों वाला [[राज्य]] है, जिसमें कुल 75 जिले हैं। आदिगंगा [[गोमती नदी (उत्तर प्रदेश)|गोमती]] नदी के तट पर बसा [[सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश|सुलतानपुर]] इसी राज्य का एक प्रमुख जिला है। यहाँ के लोग सामान्यत: [[वाराणसी]], [[इलाहाबाद|प्रयागराज]], [[कानपुर]] और [[लखनऊ]] जिलों में पढ़ाई करने जाते हैं। सुलतानपुर जिले की स्थानीय बोलचाल की भाषा [[अवधी]] और सम्पर्क भाषा [[खड़ीबोली|खड़ी बोली]] है।
 
== इतिहास ==
== इतिहासsultanpur ki San aalmeen shah baba ki mazar hai jo gram nekrahi me hai desh ke alag alag gagha se ate hai ==
<ref>{{cite web|url= http://sultanpur.nic.in/intro.htm|title= अधिकारीक जालस्थल|access-date= 26 जून 2015|archive-url= https://web.archive.org/web/20150905060045/http://sultanpur.nic.in/intro.htm|archive-date= 5 सितंबर 2015|url-status= live}}</ref> [[सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश|सुलतानपुर]], [[उत्तर प्रदेश]] राज्य का एक ऐसा भाग है जहां अंग्रेजी शासन से पहले उदार नवाबों का राज था। पौराणिक मान्यतानुसार आज का [[सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश|सुलतानपुर]] जिला पूर्व में [[गोमती नदी]] के तट पर मर्यादा पुरुषोत्तम "भगवान श्री [[राम]]" के पुत्र '''कुश''' द्वारा बसाया गया [[सुलतानपुर जिला|कुशभवनपुर]] नाम का नगर था। [[ख़िलजी वंश|खिलजी वंश]] के सुल्तान ने भारशिवो के राजा नंदकुवर भर एक महान प्रतापी राजा थे इनको खिलजी वंश के सुल्तानों ने वैश्यराजपूतों के साथ मिलकर छल पूर्वक पराजित किया और खिलजी वंश के सुल्तान ने वैश्य राजपूतों को भाले सुल्तान की उपाधि प्रदान की इसी भाले सुल्तान की उपाधि के नाम पर इस नगर को [[सुलतानपुर, उत्तर प्रदेश|सुलतानपुर]] के नाम से बसाया गया । यहां की भौगोलिक उपयुक्तता और स्थिति को देखते हुए [[अवध]] के नवाब सफदरजंग ने इसे [[अवध]] की राजधानी बनाने का प्रयास किया था, जिसमें उन्हें सफलता नहीं मिली।