"चोलिस्तान" के अवतरणों में अंतर

300 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
#WLF
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
(#WLF)
 
[[File:Derawar Fort 3 by gul791.jpg|right|thumb|चोलिस्तान का देरावड़ क़िला]]
'''चोलिस्तान''', जिसे स्थानीय भाषा में रोही भी कहते हैं, [[पंजाब (पाकिस्तान)|पाकिस्तानी पंजाब]] और भारत व [[सिंध]] के कुछ पड़ोसी भागों में फैला हुआ एक [[मरुस्थल|रेगिस्तान]] व अर्ध-रेगिस्तानी क्षेत्र है। यह [[थार मरुस्थल|थर रेगिस्तान]] से जुड़ा हुआ है। यहाँ [[घग्गर-हकरा नदी|हकरा नदी]] का सुखा हुआ प्राचीन मार्ग है जिसके किनारे [[सिंधु घाटी सभ्यता|सिन्धु घाटी सभ्यता]] के बहुत से खंडहर मिलते हैं। ९वीं सदी में राय जज्जा भट्टी द्वारा बनाया गया देरावड़ क़िला भी चोलिस्तान के [[बहावलपुर]] क्षेत्र में खड़ा है।<ref>Mughal, M.R. 1997. Ancient Cholistan. Lahore: Feroz and Sons.</ref>
[[File:A group of folk singers in the Cholistan Desert with unique musical instruments.jpg|thumb|
 
अद्वितीय वाद्ययंत्रों के साथ चोलिस्तान रेगिस्तान में लोक गायकों का एक समूह]]
== नामोत्पत्ति ==
'चोल' का अर्थ कई [[तुर्की भाषा परिवार|तुर्की भाषाओं]] में 'मरुभुमि' होता है।
38

सम्पादन