"करवा चौथ" के अवतरणों में अंतर

317 बैट्स् नीकाले गए ,  6 माह पहले
छो
2401:4900:2FA6:C1EE:7236:F37B:8C1F:7B43 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2402:8100:208F:2D6D:E1BE:9AB4:B24C:22D4 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
छो (2401:4900:2FA6:C1EE:7236:F37B:8C1F:7B43 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2402:8100:208F:2D6D:E1BE:9AB4:B24C:22D4 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
 
भारत देश में वैसे तो चौथ माता जी के कही मंदिर स्थित है, लेकिन सबसे प्राचीन एवं सबसे अधिक ख्याति प्राप्त मंदिर [[राजस्थान]] राज्य के [[सवाई माधोपुर]] जिले के [[चौथ का बरवाड़ा]] गाँव में स्थित है। [[चौथ माता]] के नाम पर इस गाँव का नाम बरवाड़ा से [[चौथ का बरवाड़ा]] पड़ गया। चौथ माता मंदिर की स्थापना महाराजा [[भीमसिंह चौहान]] ने की थी।
Karwe ko apni saas ko de dete h.saas use ek saal tak sambhal kar rakhti h..karwe k andar k sari samagri ko kaam me le lete h use ek saal tak nahi rakhna hota h. Karwe ko pani k sthan(rajasthan me parinda bolte h) me rakhte h taki wo apne aap galne lag jaye fir use kisi podhe me dal dete h taki wo mitti me sma jaye.
 
== व्रत की विधि ==