"हास्य": अवतरणों में अंतर

73 बाइट्स जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
→‎हास्य रस का उदाहरण: व्याकरण में सुधार
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
(→‎हास्य रस का उदाहरण: व्याकरण में सुधार)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
* बन्दर ने कहा बंदरिया से चलो नहाने चले गंगा।
बच्चो को छोड़ेंगे घर पे वही करेंगे हुडदंगा॥
*शीश पर गंगा हंसे,
* नाना वाहन नाना वेषा ।
लट में भुजंगा हंसे।
बिहसे सिव समाज निज देखा । l
हास ही के दंगा भयो,
नंगा के विवाह में।।
 
==इन्हें भी देखें==
1

सम्पादन