"भाषाविज्ञान" के अवतरणों में अंतर

4 बैट्स् नीकाले गए ,  11 माह पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
[[पाणिनि]] न केवल भारत के, अपितु संसार के सबसे बड़े भाषाविज्ञानी हैं, जिन्होंने वर्णनात्मक रूप में भाषा का विशद एवं व्यापक अध्ययन किया। [[कात्यायन]] एवं [[पतञ्जलि|पतंजलि]] भी इसी कोटि में आते हैं। ग्रीक विद्वानों में थ्रैक्स, डिस्कोलस तथा इरोडियन ने भी इस क्षेत्र में उल्लेख्य कार्य किया था।
 
पाणिनि से पूर्ण प्रभावित होकर [[ब्लूमफील्ड]] (अमरीका) ने सन् १९३२ ई. में 'लैंग्वेज' नामक अपना ग्रन्थ प्रकाशित करवाकर वर्णनात्मक भाषाविज्ञान के विकास का मार्ग प्रशस्त किया। इधर पश्चिमी देशों - विशेषकर अमरीका में वर्णनात्मक भाषाविज्ञान का आशातीत विकास हुआ है।
 
=== ऐतिहासिक पद्धति या कालक्रमिक पद्धति (diachronic linguistics) ===
बेनामी उपयोगकर्ता