"यमुना नदी" के अवतरणों में अंतर

43 बैट्स् जोड़े गए ,  7 माह पहले
→‎उद्गम: छोटा सा सुधार किया।
(→‎उद्गम: छोटा सा सुधार किया।, व्याकरण में सुधार)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
(→‎उद्गम: छोटा सा सुधार किया।)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
 
===पौराणिक स्रोत ===
भुवनभास्कर सूर्य इसके पिता, मृत्यु के देवता [[यम]] इसके भाई और भगवान [[कृष्ण|श्री कृष्ण]] इसके पति स्वीकार्य किये गये हैं। जहाँ भगवान [[कृष्ण|श्री कृष्ण]] ब्रज संस्कृति के जनक कहे जाते हैं, वहाँ यमुना इसकी जननी मानी जाती है। इस प्रकार यह सच्चे अर्थों में ब्रजवासियों की माता है। अतः ब्रज में इसे ''यमुना मैया'' कहते हैं। [[ब्रह्म पुराण]] में यमुना के आध्यात्मिक स्वरुप का स्पष्टीकरण करते हुए विवरण प्रस्तुत किया है - "जो सृष्टि का आधार है और जिसे लक्ष्णों से सच्चिदनंद स्वरुप कहा जाता है, [[उपनिषद्|उपनिषदों]] ने जिसका ब्रह्म रूप से गायन किया है, वही परमतत्व साक्षात् यमुना है। [[गौड़ वैष्णव|गौड़िय]] विद्वान [[श्री रूप गोस्वामी]] ने यमुना को साक्षात् चिदानंदमयी बतलाया है। [[गर्ग संहिता]] में यमुना के पचांग - 1. पटल, 2. पद्धति, 3. कवय, 4. स्तोत्र, 5. सहस्त्र नाम का उल्लेख है।
में पाँच नामों का वर्णन है -
#'''पटल'''
#'''पद्धति'''
#'''कवय'''
#'''स्तोत्र'''
#'''सहस्त्र'''
 
== प्रवाह क्षेत्र ==
1,778

सम्पादन