"कन्नौज": अवतरणों में अंतर

245 बाइट्स जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
→‎परिचय: व्याकरण में सुधार
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
(→‎परिचय: व्याकरण में सुधार)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
 
== परिचय ==
कन्नौज, उत्तर प्रदेश का एक जिला है। यह नगर, [[गंगा नदी|गंगा]] के बायीं ओर [[ग्रैंड ट्रंक रोड]] से 3 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। किसी समय [[गंगा नदी]] इस नगर के पार्श्व से बहती थी। [[रामायण]] में इस नगर का उल्लेख मिलता है। [[क्लाडियस टॉलमी|तॉलेमी]] ने ईसा के काल में कन्नौज को 'कनोगिज़ा' लिखा है। पाँचवीं शताब्दी में यह [[गुप्त राजवंश|गुप्त साम्राज्य]] का एक प्रमुख नगर था। छठी शताब्दी में श्वेत हूणों के आक्रमण से यह काफी विनिष्टविनष्ट हो गया था। चीनी यात्री [[ह्वेन त्सांग]], ने, जो [[हर्षवर्धन]] के समय भारत आया था, इस नगर का उल्लेख किया है। 11वीं शताब्दी के आंरभिक काल में मुसलमानों के आक्रमण के कारण भी यह नगर काफी विनिष्टविनष्ट हुआ। 1194 ई. में [[मोहम्मद ग़ोरी|मुहम्मद गौरी]] ने इस नगर पर अपना स्वत्वस्वामित्व जमाया। 'आइने अकबरी' द्वारा ज्ञात होता है कि [[अकबर]] के समय में यहाँ सरकार का मुख्य कार्यालय था। प्राचीन काल के भग्नावशेष आज भी लगभग छहछः कि.मी.व्यास के अर्धवृत्तीय क्षेत्र में वर्तमान हैं। कन्नौज इत्र और इतिहास की नगरनगरी रहा है, अब यहयहाँ अगरबत्ती का भी व्यापार होता है| कन्नौज अपने मन्दिरो के लिये विशेष जाना जाता है | कन्नौज प्रमुख रुप से सिद्धपीठ बाबा गौरी शंकर मन्दिर एवं सिद्धपीठ माँ फूलमती मंदिर के लिये जाना जाता है | इसके अलावा यहाँ अनेकों मंदिर हैं, जो की इस नगर की छवि कोंको और आकर्षित बनाते हैं |यह यहाँ की नुरीनूरी मस्जिद और एक मीनार मस्जिद बहुत खूबसूरत है और मस्जिद ए बदर भी बहुत खूबसूरत है।
यह मकदूम जहामिया , वालापीर , रौजे और गेट बहुत मशहूर है। यह हांजी सरीफ दरगाह मशहूर है जहां हर कुडो के त्योहार में उर्स होता है। सुल्तानपुर बाबा , मीर उवैश बाबा की दरगाह भी मशहूर है यहयहाँ बहुत दूर दूर के लोगो की आस्था जुड़ी है चाहे हिंदू हो या मुस्लिम यह सभी की मुराद पूरी होती है और सभी की आस्था है वर्तमान में कन्नौज नगर पालिका अध्यक्ष माननीय "शैलेन्द्र अग्निहोत्री जी (वंदेमातरम)" हैं विधायक माननीय अनिल दोहरे और सांसद माननीय सुब्रत पाठक है |छिबरामऊ में प्रसिद्ध कालिका देवी का मंदिर है।
यहयहाँ के पड़ोसी जिले कानपुर, उन्नाव, हरदोई, शाहजहां पुर, फर्रुखाबाद, मैनपुरी, इटावा ,औरैया, कानपुर देहात है
गंगा नदी , काली नदी , इसन नदी और चित्रा नदी है।ये चार नदियां यहाँ बहती रही हैं लेकिन वर्तमान में सिर्फ गँगा और काली नदी का ही बहाव है ।
 
== कड़ियाँ ==
9

सम्पादन