"लाक्षागृह" के अवतरणों में अंतर

11 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
(मुझे लाक्षागृह के प्रयागराज में होने के कारण पर एतराज है यह तथा व युक्तिसंगत नहीं है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका Reverted
 
[[चित्र:Barnava (1).JPG|thumb|200px|[[बरनावा]] सथित लाक्षागृह का चिह्नित सथान]]
'''लाक्षागृहम्''' [[महाभारत|Mahabharat]] के अट्ठारह पर्वों में से एक पर्व है।
महाभारत में ऐसा उल्लेख मिलता है कि एक बार पाण्डव अपनी माता कुन्ती के साथ वार्णावर्त नगर में महादेव का मेला देखने गये।
दुर्योधन ने इसकी पूर्व सूचना प्राप्त करके अपने एक मन्त्री पुरोचन को वहाँ भेजकर एक लाक्षागृह तैयार कराया।
बेनामी उपयोगकर्ता