"श्लेष अलंकार": अवतरणों में अंतर

197 बाइट्स हटाए गए ,  1 वर्ष पहले
छो
2409:4043:2385:A621:24DC:39EA:FF02:680E (Talk) के संपादनों को हटाकर संजीव कुमार के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(→‎इन्हें भी देखें: उदाहरण देना)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (2409:4043:2385:A621:24DC:39EA:FF02:680E (Talk) के संपादनों को हटाकर संजीव कुमार के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
 
==इन्हें भी देखें==
* [[अलंकार]]
उदाहरण:-
चिरजीवौ जोरी जुरे, क्यों ने सनेह गंभीर।
को घटी या वृषभानुजा, वे हलधर के वीर।।
 
==सन्दर्भ==