"शियार" के अवतरणों में अंतर

1,365 बैट्स् नीकाले गए ,  6 माह पहले
चक्रबोट के अवतरण 3626565पर वापस ले जाया गया : Reverted (ट्विंकल)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
(चक्रबोट के अवतरण 3626565पर वापस ले जाया गया : Reverted (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
[[चित्र:Jackal Cape cross 2009.JPG|right|thumb|300px|शियार]]
'''शियार'''(मलयालम:കുറുനരി कुरुनरि) या '''शृंगाल या सियार''' एक जानवर है। यह [[भारत]] के जंगलों और गन्ने आदि के खेतों में आमतौर से पाया जाने वाला मध्यम आकार का पशु जो लगभग [[लोमड़ी]] के तरह का होता है।
 
भारत में कई स्थानों पर मनुष्यों कि जनसंख्या विस्फोट के कारण इनकी(सियार कि)जनसंख्या में ज्यादा कमी हुई है।
{{आधार}}
 
प्रायर सामान्य तौर पर सियार या जिसे घरेलू भाषा में हम छोटा सियार कहते हैं वह गांव के निकट पाया जाता है सियार भोजन के लिए गांव की भेड़ बकरियों पर भी हमला करते हैं ये कुत्ते के बच्चे को भी खा जाते हैं सामान्य तौर पर सियार इंसानों पर हमला नहीं करते लेकिन कभी-कभी ऐसी घटनाएं देखी गई हैं।
 
सियार झुंडों में रहते हैं और एक झुंड में 5 से अधिक सदस्य होते हैं यह झुंड में हमला भी करते हैं ठंडी की रातों में सियार एक साथ मिलकर पुकार या आवाज़ लगाते हैं यह बहुत ही डरावना लगता है कुछ दंतकथाओं में ऐसा प्रचलित है कि सियार गांव में प्रवेश करने से पहले गांव में उपस्थित धार्मिक स्थल से पुकार लगाकर प्रवेश की इजाजत मांगते हैं। सियार सर्वहारी जीव हैं और जो कुछ भी खाने को मिले उसे खा जाते हैं। यहा तक कि पौराणिक कथा के अऩुसार यह जानवर इंसान के नवजात शिशुओं को भी अपना भोजन बना लेेते है। सियार जो एक पौराणिक जन्तु है विश्व की अनेक दन्त कथाओं में इसका उल्लेख मिलता है। यह शानदार जीव 16किमी प्रति घण्टे की रफ़्तार से दौड़ सकता है। इसका भोजन छोटे पक्षी, रेंगने वाले जीव, चूहे, खरगोस, किट पतंगों से लेकर इंसानी का भोजन रोटी, मछली, बर्गर, हॉट डॉग आदि होते हैं
 
[[श्रेणी:पशु]]
[[श्रेणी:कैनिडाए]]