"राणा मोकल" के अवतरणों में अंतर

159 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
सम्पादन सारांश रहित
(राणा मोकल की ह्त्या के संदर्भ में इनकी ह्त्या कराने के पक्ष में मंहवा पंवार की मुख्य भूमिका थी)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो
टैग: Manual revert यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
राणा को स्थापत्य कला से भी प्रेम था इनके दरबार में फना , मना , विशल नामक वास्तुकार शोभा बढ़ाते थे| [[एकलिंगजी|एकलिंंग]] मंदिर के परकोटे का निर्माण किया |
 
जब राणा मोकल गुजरात के शासक अहमद शाह के विरुद्ध अभियान पर जा रहे थे तो रास्ते मे जिलवाडा नामक स्थान पर राणा क्षेेेत्र सिंह के दासीपुुत्र चाचा व मेरा ने राणा मोकल की हत्या कर दी इस हत्या को कराने के पक्ष में मंहवा पंवार की मुख्य भूमिका थी | इसके उपरांत 1433 ई. में [[महाराणा कुम्भा]] गद्दी पर बैठे |
 
{{stub|नाम=महाराणा मोकल|शासन=1397 - 1433|माता=महारानी हंसाबाई|Death=1433|संतान=महाराणा कुुुम्भा|पिता=महाराणा लाखा}}