"युग वर्णन" के अवतरणों में अंतर

407 बैट्स् नीकाले गए ,  10 माह पहले
छो
2409:4043:2E8D:D0C7:B1D1:D883:6E6E:93D5 (Talk) के संपादनों को हटाकर रोहित साव27 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Reverted
छो (2409:4043:2E8D:D0C7:B1D1:D883:6E6E:93D5 (Talk) के संपादनों को हटाकर रोहित साव27 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
*मुद्रा – स्वर्ण
*पात्र – चाँदी का
*इसी काल से किराड़ क्षत्रिय वंश के महाप्रतापी राजा शांतनु के वंशज आज भी राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, आदि स्थानों पर पाये जाते हैं
 
==द्वापरयुग==