"इण्डिका (मेगस्थनीज द्वारा रचित पुस्तक)": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
No edit summary
'''''इंडिका''''' (ग्रीक: δνδικά; लैटिन: '''''इंडिका''''' ) ग्रीक लेखक [[मेगस्थनीज]] द्वारा मौर्यकालीन भारत का एक लेख है। यह मूल रूप से प्राप्त नहीं हुई है परन्तु इसके कुछ भाग परवर्ती लेखकों के ग्रंथों से प्राप्त हुए है इनमें डियोडोरस, सुकीलस , स्ट्रैबो ( ''जियोग्राफिका'' ), प्लिनी और एरियन ( ''इंडिका'' ), प्लूटार्क, जस्टिन के नाम उल्लेखनीय है।
[[File:Maurya Empire, c.250 BCE.png|thumb|मौर्यकालीन भारत, जिसके लिए [[मेगस्थनीज]] एक राजदूत था|282x282px]]
 
== पुनर्निर्माण ==
मेगस्थनीज की ''इंडिका'' को बाद के लेखकों द्वारा प्रत्यक्ष उद्धरण या पैराफेरेस के रूप में संरक्षित भागों का उपयोग करके फिर से बनाया जा सकता है। मूल पाठ से संबंधित भागों की पहचान बाद की रचनाओं, समान शब्दावली और शब्दावली पर आधारित कार्यों से की जा सकती है, तब भी जब सामग्री को मेगास्थनीज के लिए स्पष्ट रूप से जिम्मेदार नहीं ठहराया गया हो। फेलिक्स जेकोबी के ''फ्रैगमेंटे डेर ग्रिचिसचेन हिस्टोरिकर'' में मेगास्थनीज के 36 पेज के कंटेंट हैं। <sup>[3]</sup>
1,543

सम्पादन