"हाथरस जिला" के अवतरणों में अंतर

2,334 बैट्स् नीकाले गए ,  11 माह पहले
छो
SENGAR CHIRAG (Talk) के संपादनों को हटाकर InternetArchiveBot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(→‎इतिहास: हाथरस मेरी जमीन है , ओर मैं बचपन से ही इससे बहुत ज्यादा जुड़ा हुआ हूं और मुझे बहुत रोचक लगता है अपने पसन्दीदा चीज़ों की वास्तविक जानकारी प्राप्त करने में साथ ही साथ सभी लोगो तक पहुचाने में । मुझे काफी जानकारियां मालूम थी और काफी बड़े बुजुर्गों से मिली और बाकी मैने काफी जगह से पैरवी कर इखट्टा की । इस आधार पर मैने प्यारे हाथरस जिले के विकिपीडिया में सुधार किया । आशा करता हु कि ये सभी विकिपीडिया पढ़ने वालों के लिए कुछ खास जानकारी जरूर देगा ।)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (SENGAR CHIRAG (Talk) के संपादनों को हटाकर InternetArchiveBot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
== इतिहास ==
हाथरस जिले का गठन 3 मई 1997 को [[अलीगढ़ जिला|अलीगढ़]], [[मथुरा जिला|मथुरा]] और [[आगरा जिला|आगरा]] जिले के हिस्सों को मिलाकर किया गया था।
 
• हाथरस जनपद का सृजन बसपा शासनकाल में 3 मई 1997 को तत्कालीन ऊर्जामंत्री रामवीर उपाध्याय के प्रयासों से संभव हुआ।
 
• तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने इसका नाम महामायानगर रखा। यह जिला अलीगढ़ व मथुरा जिलों की तहसील (सिकंदराराऊ, हाथरस, इगलास और सादाबाद) को जोड़कर बनाया गया। हालांकि इगलास के लोगों ने इसका विरोध किया था।
 
• सत्ता परिवर्तन के बाद जैसे ही कल्याण ¨सह प्रदेश के मुख्यमंत्री बनें, उन्होंने इगलास को फिर से अलीगढ़ से जोड़ दिया और महामायानगर का नाम बदलकर हाथरस कर दिया।
 
• इसके बाद जैसे ही बसपा फिर सरकार में आई तो जिले का नाम महामायानगर कर दिया गया। इसके बाद राजनाथ ¨सह प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने फिर से जिले का नाम हाथरस कर दिया।
 
• वर्ष 2002 में प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी और मुख्यमंत्री बने मुलायम ¨सह यादव। इन्होंने 13 जनवरी 2004 को जिले को समाप्त करते हुए फिर से अलीगढ़ से जोड़ दिया। इसके विरोध का दौर महीनों चला। हाईकोर्ट तक पैरवी की गई, तब जाकर यह जिला समाप्त होने से बच सका।
 
== विभाजन ==