"वसन्त पञ्चमी" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् नीकाले गए ,  7 माह पहले
(→‎वसन्त पंचमी कथा: संदर्भ जोड़ा)
 
=== ऐतिहासिक महत्व ===
वसंत पंचमी का दिन हमें '''[[पृथ्वीराज चौहान]]''' की भी याद दिलाता है। उन्होंने विदेशी हमलावर [[मोहम्मद ग़ोरी]] को 16 बार पराजित किया और उदारता दिखाते हुए हर बार जीवित छोड़ दिया, पर जब सत्रहवीं बार वे पराजित हुए, तो [[मोहम्मद ग़ोरी]] ने उन्हें नहीं छोड़ा। वह उन्हें अपने साथ [[अफगानिस्तान]] ले गया और उनकी आंखें फोड़ दीं। इसके बाद की घटना तो जगप्रसिद्ध ही है। [[मोहम्मद ग़ोरी]] ने मृत्युदंड देने से पूर्व उनके शब्दभेदी बाण का कमाल देखना चाहा। पृथ्वीराज के साथी कवि चंदबरदाई के परामर्श पर ग़ोरी ने ऊंचे स्थान पर बैठकर तवे पर चोट मारकर संकेत किया। तभी चंदबरदाई ने पृथ्वीराज को संदेश दिया।
 
:'''चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण।'''