"भारतीय पाठक सर्वेक्षण" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
l
 
==भारतीय पाठक सर्वेक्षण २०१७==
मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल (एमआरयूसी) ने वर्ष 2017 का पाठक सर्वेक्षण जारी कर दिया है। इस में 3 लाख 20 हजार घरों की राय ली गई है जो इतिहास में दुनिया का सबसे बड़ा नमूना (सैंपल) भी है। 16 महीने के लंबे समय में सर्वे को 26 राज्यों में पूरा किया गया। यह सर्वे रीडरशीप स्टडीज काउंसिल ऑफ इंडिया और मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल ने करवाया था।
 
भारत के सभी भाषाओं के अखबारों की कुल पाठक संख्या के आधार पर जो २० सर्वाधिक पठित सूची बनी है , उसमें [[हिन्दी]] समाचार पत्र [[दैनिक जागरण]] सबसे ऊपर है। सर्वाधिक पढ़े जाने वाले दस भारतीय अखबारों में [[अंग्रेज़ी भाषा|अंग्रेजी भाषा]] का एक भी पत्र नहीं है। अंग्रेजी अखबार [[द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया|टाइम्स ऑफ इंडिया]] भले ही अंग्रेजी अखबारों में प्रथम स्थान पर है लेकिन सभी भारतीय भाषाओं के अखबारों की कुल प्रसार संख्या के मामले में ग्यारहवें स्थान पर है। बीस स्थानों में केवल एक ही अंग्रेजी का अखबार अपना स्थान बना पाया है जबकि हिन्दी के ८ पत्र प्रथम २० में स्थान बनाने में सफल हुए हैं।
 
नीचे प्रथम ११ पत्रों की सूची और उनकी पाठक संख्या दी गयी है-
 
*(१) दैनिक जागरण -- 7,03,77,000
 
*(२) हिन्दुस्तान -- 5,23,97,000
 
*(३) अमर उजाला --4,60,94,000
 
*(४) दैनिक भास्कर -- 4,51,05,000
 
*(५) डेली तान्ती (तमिल) -- 2,31,49,000
 
*(६) लोकमत (मराठी) -- 1,80,66,000
 
*(७) राजस्थान पत्रिका -- 1,63,26,000
 
*(८) मलयल मनोरमा (मलयालम) -- 1,59,95,000
 
*(९) इनाडु (तेलुगु) -- 1,58,48,000
 
*(१०) प्रभात खबर -- 1,34,92,000
 
*(११) ताइम्स ऑफ इंडिया (अंग्रेजी) -- 1,30,47,000
 
==विश्लेषण==
63

सम्पादन