"पूजा गहलोत" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  2 माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
 
 
== व्यक्तिगत जीवन और पृष्ठभूमि ==
पूजा गहलोत का जन्म 15 मार्च 1997 को दिल्ली में हुआ था। उन्होंने बचपन से ही खेलों में गहरी रूचि दिखाई। उसके चाचा धरम्वीर सिंह एक पहलवान थे और जब वे महज छह साल की थीं तब से ही उन्हें अखाड़े पर ले जाना शुरू किया था। हालाँकि, पिता विजेंद्र सिंह उनके कुश्ती खेलने के विरोध में थे तो पूजा गहलोत ने [[वालीबॉल|वॉलीबॉल]] खेलना शुरू कर दिया। वॉलीबॉल में वे जूनियर नैशनल स्तर तक खेलीं। हालाँकि उनके कोच का मानना था कि वे उतनी लंबी नहीं हैं कि वॉलीबॉल के खेल में कुछ खास प्रभाव डाल सकें। <ref>{{Cite news|url=https://www.bbc.com/hindi/sport-55828896|title=पूजा गहलोतः वॉलीबॉल खिलाड़ी जो पहलवान बनीं|work=BBC News हिंदी|access-date=2021-02-17|language=hi}}</ref> <ref>{{Cite web|url=https://indianexpress.com/article/sports/sport-others/pooja-gehlot-wrestles-past-hurdles-to-claim-world-silver-6098731/|title=Pooja Gehlot wrestles past hurdles to claim World silver|date=2019-11-02|website=The Indian Express|language=en|access-date=2021-02-17}}</ref>
 
[[कामनवेल्थ गेम्स|कॉमनवेल्थ गेम्स]] 2010 में हरियाणा की [[गीता फोगाट|गीता]] और [[बबीता फौगाट|बबीता फोगट]] को पदक जीतते हुए देख कर पूजा गहलोत ने एक बार फिर अपने खेल को बदल कर कुश्ती करने का फैसला किया।<ref>{{Cite news|url=https://www.bbc.com/hindi/sport-55828896|title=पूजा गहलोतः वॉलीबॉल खिलाड़ी जो पहलवान बनीं|work=BBC News हिंदी|access-date=2021-02-17|language=hi}}</ref> उन्होंने 2014 में कुश्ती का प्रशिक्षण लेना शुरू किया। लेकिन दिल्ली के उपनगरीय इलाके में जहाँ उनका परिवार उस वक्त रहता था, लड़कियों के लिए कुश्ती अभ्यास केंद्र मौजूद नहीं था। इस समस्या से व्याकुल हुए बगैर पूजा ने दिल्ली में एक प्रशिक्षण केंद्र ढूंढ लिया लेकिन यहाँ अभ्यास करने का मतलब था उन्हें प्रतिदिन तीन घंटे बस के सफर में बिताना होता था और इसके लिए उन्हें सुबह 3 बजे जागना पड़ता था। हालांकि इस लंबी दूरी की वजह से अंततः उन्हें पास के अखाड़े में ही आना पड़ा और लड़कों के साथ प्रशिक्षण लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। लड़कों के साथ कुश्ती करना गहलोत के लिए आसान नहीं था क्योंकि सिंगलेट पहनने पर उन्हें शर्म महसूस होती थी।<ref>{{Cite news|url=https://www.bbc.com/hindi/sport-55828896|title=पूजा गहलोतः वॉलीबॉल खिलाड़ी जो पहलवान बनीं|work=BBC News हिंदी|access-date=2021-02-17|language=hi}}</ref><ref>{{Cite web|url=https://scroll.in/field/942620/wrestling-after-silver-at-u-23-world-championships-pooja-gehlot-strengthens-olympic-belief|title=Wrestling: After silver at U-23 World Championships, Pooja Gehlot strengthens Olympic belief|last=Siwach|first=Vinay|website=Scroll.in|language=en-US|access-date=2021-02-17}}</ref>
 
जल्द ही, अपनी ताक़त और कौशल की बदौलत उन्होंने जूनियर स्तर की प्रतियोगिताओं में ध्यान आकर्षित करना शुरू कर दिया। यहाँ तक कि पूजा बेहतर प्रशिक्षण ले सकें इसके लिए परिवार हरियाणा के [[रोहतक जिला|रोहतक]] शहर में आ गया। <ref>{{Cite news|url=https://www.bbc.com/hindi/sport-55828896|title=पूजा गहलोतः वॉलीबॉल खिलाड़ी जो पहलवान बनीं|work=BBC News हिंदी|access-date=2021-02-17|language=hi}}</ref>
 
2016 में वे 48 किलो भार वर्ग में राष्ट्रीय जूनियर कुश्ती चैंपियनशिप जीतीं। हालाँकि, उसी वर्ष, उन्हें ऐसी चोट लगी कि साल भर उन्हें कुश्ती से दूर रहना पड़ा।
 
== पेशेवर उपलब्धियाँ ==
पूजा गहलोत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बड़ी सफलता 2017 के एशियन जूनियर चैंपियनशिप, [[ताइवान]] में मिली, जब वे वहाँ स्वर्ण पदक जीतीं। [[हंगरी]] की राजधानी बुडापेस्ट में 2019 अंडर-23 वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप के 51 किलो भार वर्ग में रजत पदक हासिल करना उनकी एक और बड़ी उपलब्धि रही। <ref>{{Cite web|url=https://timesofindia.indiatimes.com/sports/more-sports/wrestling/pooja-gehlot-wins-silver-at-under-23-world-wrestling-championships/articleshow/71862054.cms|title=Pooja Gehlot wins silver at Under-23 World Wrestling Championships {{!}} More sports News - Times of India|last=Nov 2|first=PTI /|last2=2019|website=The Times of India|language=en|access-date=2021-02-17|last3=Ist|first3=10:02}}</ref> इस प्रतियोगिता में रजत जीतने वाली वो केवल दूसरी भारतीय महिला बनीबनी।<ref>{{Cite web|url=https://scroll.in/field/942620/wrestling-after-silver-at-u-23-world-championships-pooja-gehlot-strengthens-olympic-belief|title=Wrestling: After silver at U-23 World Championships, Pooja Gehlot strengthens Olympic belief|last=Siwach|first=Vinay|website=Scroll.in|language=en-US|access-date=2021-02-17}}</ref>
 
== पदक ==