"मैनपुरी" के अवतरणों में अंतर

440 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
अनुभाग जोड़ा गया
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(अनुभाग जोड़ा गया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
 
 
इस सीट पर सबसे पहले 1957 के आम चुनाव में PSP के टिकट पर बंसीदास धांगर ने जीत हासिल की थी. 1962 में कांग्रेस के बादशाह गुप्ता, और फिर 1967 व 1971 में कांग्रेस के ही महाराज सिंह चुने गए. 1977 और 1980 में रघुनाथ सिंह वर्मा ने क्रमशः BLD और जनता पार्टी प्रत्याशी के रूप में जीत दर्ज की. 1984 में कांग्रेस के बलराम सिंह यादव जीते, लेकिन 1989 और 1991 में जनता दल के उदय प्रताप सिंह ने यहां जीत हासिल की. इसके बाद 1996 में मुलायम सिंह यादव समाजवादी पार्टी (SP) के टिकट पर यहां से जीते. 1998 और 1999 में SP के टिकट पर बलराम सिंह यादव यहां से जीते. 2004 और 2009 में मुलायम सिंह यादव यहां लौटे और जीत हासिल की. इस सीट के अंतर्गत विधानसभा की 5 सींटें आती हैं, जिनमें करहल, मैनपुरी, भोगांव, जसवंतनगर व किशनी शामिल हैंहैंं
 
=== अकबरपुर औछा===
 
== इन्हें भी देखें ==
* मैनपुरी की [[तारकसी]] कला
* [[शहीद मेला]], बेवर (मैनपुरी) UTTAR PRADESH
 
==सन्दर्भ==
सलेमपुर पढीना:यहां नागदेव का पृसिध्द मन्दिर है जहां प्रत्येक सोमवार को श्रृध्दालुओ की भीड़ लगी रहती है ये मन्दिर भोगांव से दक्षिण दिशा में ५किमी की दूरी पर है
{{टिप्पणीसूची}}
 
==बाहरी कड़ियाँ==
580

सम्पादन