"रविदास" के अवतरणों में अंतर

755 बैट्स् नीकाले गए ,  10 माह पहले
छो
2402:8100:2283:F352:3E4D:D956:7686:597B (Talk) के संपादनों को हटाकर Mahendra Darjee के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2402:8100:2283:F352:3E4D:D956:7686:597B (Talk) के संपादनों को हटाकर Mahendra Darjee के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
*मन ही पूजा मन ही धूप ,मन ही सेऊँ सहज सरूप
*'''<nowiki/>'ऐसा चाहूं राज मैं''', जहां '''मिले''' सबन को '''अन्न''', छोट-बड़ो सब सम बसे, रविदास रहे प्रसन्न'
अब कैसे छूटै राम नाम रट लागी।
प्रभु जी, तुम चंदन हम पानी,
जाकी अंग-अंग बास समानी।
प्रभु जी, तुम घन बन हम मोरा,
जैसे चितवत चंद चकोरा।
प्रभु जी, तुम दीपक हम बाती,
जाकी जोति बरै दिन राती।
प्रभु जी, तुम मोती हम धागा,
जैसे सोनहिं मिलत सुहागा।
प्रभु जी, तुम तुम स्वामी हम दासा,
ऐसी भक्ति करै रैदासा।
 
== संदर्भ ==