"भारत में इस्लाम" के अवतरणों में अंतर

Rescuing 0 sources and tagging 2 as dead.) #IABot (v2.0.8
(Rescuing 1 sources and tagging 0 as dead.) #IABot (v2.0.8)
(Rescuing 0 sources and tagging 2 as dead.) #IABot (v2.0.8)
=== मूल ===
सूत्रों से संकेत मिलता है कि मुसलमानों के बीच जाति का विकास काफ़ा (Kafa'a) की अवधारणा के परिणामस्वरूप हुआ।
मध्यकाल मे एक बड़ी संख्या मे स्वर्ण हिन्दुओ ने इस्लाम धर्म अपनाया और इस तरह भारत के मुसलमानों मे भी जाति आ गई। <ref name="EoI">बर्टन-पेज, जे. [http://www.brillonline.nl/subscriber/entry?entry=islam_SIM-2884 "]{{Dead link|date=अप्रैल 2021 |bot=InternetArchiveBot }}[http://www.brillonline.nl/subscriber/entry?entry=islam_SIM-2884 हिन्दू. "]{{Dead link|date=अप्रैल 2021 |bot=InternetArchiveBot }} एनसाइक्लोपीडिया ऑफ इस्लाम. पी. बियरमैन, थ बियानक्वीस, सीई बोसवर्थ, ई वैन डोंजीलांड डबल्यू. पी. हेनरिक्स द्वारा संपादित. ब्रिल, 2006. ब्रिल ऑनलाइन.</ref><ref>मुस्लिम कास्ट सिस्टम इन उत्तर प्रदेश (सांस्कृतिक आदान-प्रदान का एक अध्ययन),काय़मखानी, घौस, अंसारी, भाटी, लखनऊ 1960, पृष्ठ 66</ref><ref name="Sikand">{{cite web|last = Singh Sikand|first = Yoginder|title = Caste in Indian Muslim Society|publisher = Hamdard University|url = http://stateless.freehosting.net/Caste%20in%20Indian%20Muslim%20Society.htm|accessdate = 2006-10-18 }}</ref> जिन लोगों को अशरफ्स (शरीफ को भी देंखे) के रूप में सन्दर्भित किया जाता है, उन्हें ऊंचे स्तर का माना जाता था, और उन्हें विदेशी अरब वंश का माना जाता है।
<ref name="pratap_caste">{{cite book| last = Aggarwal|first = Patrap|title = Caste and Social Stratification Among Muslims in India|publisher = Manohar|year = 1978 }}</ref><ref name="anti_caste_muslim">{{cite book
| last = Bhatty
1,08,024

सम्पादन